ASP.NET 2.0 – Microsoft का Standard Web Development Model

Core ASP.NET WebForms in Hindi - BccFalna.com: TechTalks in Hindiये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook Core ASP.NET WebForms with C# in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

Core ASP.NET WebForms in Hindi | Page:647 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

हालांकि जब Microsoft द्वारा ASP.NET 1.0 Launch किया गया था, तब Microsoft को इस बात का ज्ञान नहीं था कि ASP.NET जैसे एक नए Development Model को Market का क्या Response मिलेगा, लेकिन जैसे ही ASP.NET Launch हुआए, Microsoft Technologies का प्रयोग करते हुए Develop किए जाने वाले Web Applications के लिए ASP.NET एक Standard की तरह Use किया जाने लगा।

परिणामस्वरूप जैसे-जैसे लोग ASP.NET को Professional Development के लिए Use करने लगे, Microsoft को ASP.NET में Exist कमियों को पहचानने का मौका मिला, जिसे Microsoft ने लगभग पूरी तरह से Resolve करके ASP.NET 2.0 Version Launch किया, जो कि ASP.NET का अन्तिम Standard Version था। इसके बाद ASP.NET के जो भी नए Versions Market में आए हैं, वे सभी पूरी तरह से ASP.NET 2.0 के Extension मात्र थे। यानी Microsoft ने ASP.NET 2.0 के बाद Core ASP.NET Architecture में कोई परिवर्तन नहीं किया है।

हालांकि Microsoft ने “ASP.NET Web Site” व “ASP.NET MVC” जैसे कुछ और Frameworks भी Develop किए हैं, लेकिन ये सभी Frameworks पूरी तरह से ASP.NET 2.0 पर ही आधारित हैं। इसलिए यदि हम Microsoft की Latest Web Development Technologies को भी समझना चाहते हैं, तब भी हमें ASP.NET 2.0 Web Forms के Model को अच्छी तरह से समझना जरूरी ह, क्योंकि सभी अन्‍य Web Application Development Models पूरी तरह से इसी पर आधारित हैं।

सरल शब्दों में कहें तो ASP.NET 1.0ASP.NET 2.0 के बीच मुख्‍य अन्तर ये था कि यदि ASP.NET 1.0 में किसी Functionality को प्राप्त करने के लिए हमें 100 Lines का Codes लिखना पडता था, तो ASP.NET 2.0 को Use करते हुए हम उसी Functionality को मात्र 30 Lines के Code द्वारा प्राप्त कर सकते थे। यानी ASP.NET 2.0 में मूल रूप से Developer के काम को काफी सरल कर दिया गया था और ज्यादातर Common Functionalities के लिए हमें पहले से Predefined Classes प्राप्त थीं, जिन्हें हम Reuse कर सकते थे।

चूंकि ASP.NET 2.0 एक Standard Web Development Model की तरह Use किया जाता है, इसलिए इसके बाद ASP.NET 4.5 तक जितने भी ASP.NET Versions Launch हुए हैं, उन सभी में Core Model में किसी तरह का कोई परिवर्तन नहीं किया गया है, बल्कि नई तरह की जरूरतों को पूरा करने के लिए ASP.NET Namespace में और नई Classes को Add किया गया है और यही Trend अभी भी जारी है। हालांकि ASP.NET 2.0 का Core Exactly वही था जो ASP.NET 1.0 व 1.1 का था, फिर भी ASP.NET 2.0 में निम्नानुसार कुछ नए Features को Add किया गया था:

Master Pages

Master Pages वास्तव में Reusable Page Templates होते हैं। उदाहरण के लिए हम एक ऐसा Master Page Create कर सकते हैं, जो हमारे Web Application के सभी Webpages के Header, FooterNavigational Controls के लिए एक समान हो। इस प्रकार के Template को हम Master Page की तरह Identify करते हैं, क्योंकि Master Page में यदि किसी प्रकार का कोई Change करते हैं, तो उस Change का प्रभाव Web Site के हर उस Webpage पर पडता है, जिसे Design करते समय उसके Template के रूप में Master Page को Use किया गया है।

Themes

Themes का प्रयोग करते हुए हम हमारे Web Controls के लिए एक Standardized Appearance Characteristics Set Define कर सकते हैं। जब हम हमारे Web Application के लिए किसी Theme को Define कर लेते हैं, उसके बाद यदि हमें हमारे Web Application में कोई ऐसा Change करना होता है, जो कि पूरे Application को प्रभावित करे, तो इस प्रकार के Changes को हम Theme में Perform करते हैं।

Navigation

ASP.NET के Navigation Framework में Current Web Application के लिए Site Maps Define करने के लिए एक ऐसा Mechanism Included है, जो कि हमारे ASP.NET Web Application या Web Site के सभी Pages के Arrangement को Automatically एक XML Format File के रूप में Describe करता है, जिसके माध्‍यम से Search Engines हमारी Web Site के सभी Pages को Identify करते हुए आसानी से Index करने में सक्षम हो जाते हैं।

Security and Membership

ASP.NET 2.0 में कई Security-Related Features को Add किया गया है, जिसके अन्तर्गत User Credential Store करने के लिए Automatic Support, Role-Based Authorization Feature Logging, Registering Forgot Password Retrieving जैसे Common Tasks के लिए Pre-Built Security Controls Include किए गए हैं।

Data Source Controls

ASP.NET 2.0 में Add किया गया Data Source Model हमें हमारे ASP.NET Webpages के लिए इस बात को Define करने की सुविधा Provide करता है कि हमारे Web Application के Webpages किस प्रकार से Markups के माध्‍यम से Underlying Database के साथ Interaction करते हुए Dynamic Contents Generate करने में सक्षम हो सकेंगे।

Web Parts

ASP.NET 2.0 में एक Common प्रकार का Portal Application Framework Provide किया गया है, जो किसी Web Application के विभिन्न हिस्सों को Centralized तरीके से Manage करने की सुविधा Provide करता है।

Profiles

ASP.NET 2.0 द्वारा Provided Profiles Features का प्रयोग करके हम User Specific Information को बिना किसी प्रकार का Code लिखे हुए Directly Database में Store कर सकते हैं। जबकि Database में Store करने से सम्बंधित विभिन्न जरूरी Codes ASP.NET स्वयं अपने स्तर पर Generate करता है।

इनके अलावा ASP.NET 2.0 में और भी बहुत सारे महत्वपूर्ण Feature व Server Controls को Add किया गया था, जिनके बारे में इस पुस्तक के विभिन्न Sections में हम Detail से Discuss करेंगे।

Characteristics and Features of ASP.NET
ASP.NET 3.5 - The LINQ and AJAX

Core ASP.NET WebForms in Hindi - BccFalna.com: TechTalks in Hindiये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook Core ASP.NET WebForms with C# in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

Core ASP.NET WebForms in Hindi | Page:647 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

Download All Hindi EBooks

सभी हिन्दी EBooks C, C++, Java, C#, ASP.NET, Oracle, Data Structure, VB6, PHP, HTML5, JavaScript, jQuery, WordPress, etc... के DOWNLOAD LINKS प्राप्‍त करें, अपने EMail पर।

Register करके Login करें। इस Popup से छुटकारा पाएें।