What is Data Processing and Information?

How Data Processing and Information is Related: सभ्यता की शुरूआत से ही मानव को Information की जरूरत रही है। इसीलिए वह समय-समय पर सूचनाओं को एकत्रित करने व उन सूचनाओं के आधार पर सही व उचित निर्णय लेने के नए व विकसित तरीके खोजता रहा है। सूचना की आवश्‍यकता व महत्व के कारण ही सबसे पहला आविष्‍कार कागज व कलम का हुआ। फिर जैसे-जैसे मानव का विकास होता गया वैसे-वैसे उसने नए शहर, राज्य व देश बनाए और उन देशों … [Read more...]

There is only 4 Types of Programming.

Types of Programming: Computer एक Digital Machine है और हर Digital Device की तरह ही Computer तभी हमारे लिए कोई उपयोगी काम कर सकता है जबकि उसे उस काम को करने के लिए पहले से Program किया गया हो। यानी Computer एक Reprogrammable Device है जिसे अलग-अलग प्रकार की जरूरतों को पूरा करने के लिए बार-बार Reprogram किया जा सकता है। Computer द्वारा किसी Specific Type की Requirement को पूरा करवाने के लिए हमें … [Read more...]

Computer Architecture and Organization: How it Works?

Computer Architecture and Organization: जब हम Computer या किसी भी अन्‍य Device जैसे कि Mobile Phone, Tablet PC आदि से अपना मनचाहा काम करवाने के लिए कोई Program बनाना चाहते हैं,  तो सबसे पहले हमें उस Device के Architecture को समझना होता है, जिसके लिए हम हमारा Program Develop करना चाहते हैं। जबकि सामान्‍यत: सभी Digital Devices, Computer के Architecture को को ही Follow करते हैं। किसी भी Computer … [Read more...]

Only 3 Levels of Programming Languages

Levels of Programming Languages: भाषा, दो व्यक्तियों के बीच संवाद, भावनाओं या विचारों के आदान-प्रदान का माध्यम प्रदान करती है। हम लोगों तक अपने विचार पहुंचा सकें व अन्य लोगों के विचारों का लाभ प्राप्त कर सकें इसके लिये जरूरी है कि संवाद स्थापित करने वाले दोनों व्यक्तियों के बीच संवाद का माध्यम समान हो। यही संवाद का माध्यम भाषा कहलाती है। अलग-अलग स्थान, राज्य, देश, परिस्थितियों के अनुसार भाषा भी … [Read more...]

Meaning of a Computer Program – Simple Explaination

Meaning of Computer Program: प्रोग्राम को हम हर रोज के हमारे दैनिक जीवन के कामों से भी समझ सकते हैं। जिस तरह हमें कोई सामान्य सा काम के लिये भी एक निश्चित क्रम का पालन करना पडता है, उसी तरह कम्प्यूटर को भी एक निश्चित क्रम में सूचनाएं देनी होती हैं, कि किस काम के बाद क्या काम करना है। ताकि एक निश्चित समाधान या मनचाहा परिणाम प्राप्त किया जा सके। उदाहरण के लिये, माना हमें कुछ सामान खरीदने के लिये … [Read more...]

5 Simple Characteristics of a Good Program Design

Characteristics of a Good Program: जब हम कोई प्रोग्राम लिखते हैं, तो Program लिखते समय हमें कई बिंदुओं को ध्यान में रखना होता है, ताकि हमारा Program उपयोगी व आसानी से Manage व Extend करने योग्‍य हो। यानी हर अच्‍छे Program की कुछ Characteristics या Features होते हैं, जिनके आधार पर इस बात को तय किया जाता है कि कोई प्रोग्राम कितना उपयोगी व आसानी से Manage व Update करने योग्‍य है। सामान्‍यत: किसी भी … [Read more...]

Basic Structure of C Program – Only 9 Sections.

Basic Structure of C Program: इस भाषा का विकास होने से पहले जितने भी Program बनाए जाते थे, वे सभी Assembly Language में बनाए जाते थे। Assembly Language में बनाए गए Programs की Speed काफी ज्यादा होती है, लेकिन इसकी एक कमी भी है। Assembly Language में Develop किया गया Program उसी Computer पर Execute होता है, जिस पर उसे Develop किया गया होता है। इसलिए एक ऐसी Programming Language की आवश्‍यकता हुई, जो … [Read more...]

How a C Program Runs?

How a C Program Runs: सबसे पहले किसी प्रोग्राम की कोडिंग की जाती है। फिर प्रोग्राम को कम्पाइल किया जाता है। कम्पाइल करने से प्रोग्राम के कोई भी C Program Run होते समय एक निश्चित Execution Flow को Follow करता है, जिसके अन्‍तर्गत हाई लेवल के कोड मशीनी भाषा के बाइनरी डिजिटस्‌ में बदल जाते हैं, जिन्हें हमारा Computer समझ सकता है। हम ''सी'' प्रोग्राम के एक्जीक्युशन को एक ब्लॉक डायग्राम या Flow Chart से … [Read more...]

Download All Hindi EBooks

सभी हिन्दी EBooks C, C++, Java, C#, ASP.NET, Oracle, Data Structure, VB6, PHP, HTML5, JavaScript, jQuery, WordPress, etc... के DOWNLOAD LINKS प्राप्‍त करें, अपने EMail पर।

Register करके Login करें। इस Popup से छुटकारा पाएें।