How to Create a Virus using C Language Program?

C Programming Language in Hindi - BccFalna.com ये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook  C Programming Language in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

C Programming Language in Hindi | Page: 477 + 265 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

How To Create a Virus using C Language: Virus बनाना कोई बहुत ज्‍यादा जटिल काम नहीं है। यदि आपको C, C++, Java, C# जैसी किसी भी Programming Language का अच्‍छा ज्ञान है, तो आप बडी ही आसानी से Virus Create कर सकते हैं क्‍योंकि Virus भी एक प्रकार का Program ही होता है।

Virus Program व किसी अन्‍य Program में अन्‍तर केवल इतना ही होता है कि Virus Program कुछ ऐसा काम करता है, जो एक End User के रूप में हमारे लिए किसी न किसी तरह  की परेशानी Create करता है। इतना ही नहीं, किसी Normal Program की Working को भी यदि हम चाहें, तो एक Virus Program के रूप में उपयोग में ले सकते हैं।

उदाहरण के लिए Windows Operating System में Computer System को Normal तरीके से Power Off करने के लिए अथवा Soft Reboot करने के लिए shutdown.exe नाम की एक File होती है, जो उस समय Execute होती है, जब हम हमारे Windows Operating System के Shutdown या Reboot Option को Click करते हैं। लेकिन हम इसी shutdown File को इस तरह से Execute होने के लिए Program कर सकते हैं, जो एक प्रकार से Virus की तरह काम करने लगता है। कैसे ?

मानलो कि हम हमारे Computer को जैसे ही Start करते हैं, पूरी तरह से Start होने से पहले ही हमारा Computer फिर से Restart हो जाता है। यानी हमारे सामने हमारे Windows Operating System का Desktop पूरी तरह से Show भी नहीं हो पाता, उससे पहले ही हमारा Computer फिर से Restart हो जाता है। यदि हमारा Computer System इस प्रकार से व्‍यवहार करने लगे, तो हम यही कहेंगे कि हमारा Computer System किसी तरह के Virus से Infected हो गया है।

इस प्रकार की स्थिति में Windows Operating System को फिर से Reinstall करने के अलावा हमारे पास कोई रास्‍ता नहीं बचता जबकि Windows Operating System को इस प्रकार से बार-बार Restart करने के लिए हम Windows Operating System की उसी shutdown.exe File को उपयोग में ले सकते हैं, जिसे Windows Operating System उस समय उपयोग में लेते हुए हमारे Computer को Shutdown या Restart करने का काम करता है, जब हम हमारे Computer System को Soft तरीके से Shutdown या Reboot करना चाहते हैं।

जैसाकि हमने पहले भी कहा कि यदि आपको किसी भी Programming Language का उपयुक्‍त ज्ञान है, तो आप बडी ही आसानी से इस प्रकार का Virus Program बना सकते हैं, जो कि अवांछित तरीके से काम करते हुए End User को परेशान करने में सक्षम हो और लगभग सभी University या College Level Courses में C Programming Languageको जरूर पढाया जाता है। इसलिए ये मानते हुए कि आपको C Language का कुछ ज्ञान है, इस Article में हम “C Programming Language” Codes का प्रयोग करते हुए ही उपरोक्‍तानुसार Discussed एक Simple लेकिन पूरी तरह से Working Virus Create करने के विषय में जानेंगे जबकि हमारे Virus Program का Source Code कुछ निम्‍नानुसार है-

#include <dos.h>
int main (void){
  system("%windir%\\System32\\shutdown.exe -r -t 0");
  return 0;
}

इस C Program को हमने Windows 8 Pro – 64bit Operating System पर C-Free 5 Studio द्वारा Compile किया है और Windows XP – 32bit व Windows 8 – 64bit Operating System पर Test किया है। C-Free 5 एक काफी बेहतर C Programming IDE है, जिसका Free Version या Trial Version http://www.programarts.com/ से Download किया जा सकता है।

चूंकि एक C Program वास्‍तव में Native Codes में Convert होता है, इसलिए किसी C Program के Normal तरीके से काम करने के लिए Use किए जाने वाले Operating System, Used Operating System के Architecture (x86 – 32bit या x64 – 64bit) तथा Use किए जाने वाले Compiler (x86 – 32bit या x64 – 64bit) तीनों का एक दूसरे के Compatible होना जरूरी होता है। यानी यदि हम Turbo C – 3 Use करते हुए उपरोक्‍त C Program को Compile करें, तो ये Compiler 16bit होने की वजह से हमारी Create होने वाली Executable Virus File, Windows XP – 64bit, Windows Vista, Windows 7 या Windows 8 Operating System पर Normal तरीके से Run नहीं होगी।

जब हम इस C Program को Type कर लेते हैं, उसके बाद हमें इस Program को केवल Compile करके इसकी Executable File Generate करनी होती है। जबकि यदि हम इस File को Compile करते ही Run कर देते हैं, तो हमारा Computer System तुरन्‍त Restart हो जाता है, जो कि फिलहाल नहीं होना चाहिए।

इस Program को Compile करते ही जिस Location पर हमने हमारी C Source File को Save किया होता है, उसी स्‍थान पर समान नाम की एक .exe File Create हो जाती है। इसी Executable File को हमें Virus की तरह Use करना होता है।

चूंकि इस Generated .exe File को जैसे ही Double Click या Select करके Enter Key Press करते हुए Execute या Run किया जाता है, हमारा Computer Restart हो जाता है। लेकिन इस Executable File को Computer के Start होते ही लेकिन Desktop Show होने से Just पहले Automatically Execute करवाने के लिए हमें इस File के Shortcut को Windows XP Operating System के लिये निम्‍न Path पर Paste करना होता है-

C:\Documents and Settings\{User Name}\Start Menu\Programs\Startup

जबकि Windows Vista, Windows 7 या Windows 8 Operating System होने पर हमें इस File के Shortcut को निम्‍न Path पर Place करना होता है-

C:\Users\{User Name}\Start Menu\Programs\Startup

Windows Operating System में Startup Folder वह Folder होता है, जहां पर हम जिन Executable Files के Shortcuts को Place कर देते हैं, वे सभी हमारे Computer के Start होकर Desktop Show होते ही Execute हो जाते हैं। परिणामस्‍वरूप जब हमारी उपरोक्‍त C Program की Executable File का Shortcut इस Startup Folder में Copy किया जाता है, तो Computer का Desktop Show होते ही जैसे ही ये Program Run होता है, हमारा कम्‍प्‍यूटर फिर से Restart हो जाता है और ये प्रक्रिया Computer शुरू होते ही बार-बार होती है।

कोई भी Program तभी एक Virus Program माना जा सकता है, जबकि वह संक्रमण करने में सक्षम हो यानी Automatically अन्‍य Computers तक पहुंचे व उन्‍हें भी सं‍क्रमित कर दे। इसलिए यदि हम उपरोक्‍त Executable File को Email, CD, DVD, Pen Drive, Memory Card आदि के माध्‍यम से अन्‍य Users तक पहुंचाऐं तो ये Virus बडी ही तेजी से लोगों के Computers को बार-बार Restart होने के लिए Program कर देगा। हालांकि हमने अभी तक इस Functionality को इस Source Program में Add नहीं किया है और इस विषय पर हम किसी दूसरे Article में Discuss करेंगे क्‍योंकि ये भी अपने आप में काफी बडा व Complex Concept है।

उपरोक्‍त Program के Codes में हमने dos.h नाम की Header File को अपने Source C Program में Include किया है, क्‍योंकि इस Header File में हमें system() नाम का एक Function प्राप्‍त होता है, जिसकी विशेषता ये है कि इस Function द्वारा हम हमारे Computer System द्वारा Supported किसी भी DOS Command को C Program के माध्‍यम से Execute कर सकते हैं।

इसलिए जब ये Program Execute होता है, तो Current Operating System पर Exist shutdown.exe नाम की File को Execute कर देता है, जो कि हमारे Computer System को Restart कर देता है।

ठीक इसी तरह से हम निम्‍नानुसार एक और Example Program Create कर सकते हैं, जो कि एक Virus Program की तरह व्‍यवहार करता है-

#include <dos.h>
int main (void){
  for(; ;){
    system("c:\\progra~1\\intern~1\\iexplore.exe");
  }
  return 0;
}

इस C Program को भी केवल Compile ही करना होता है क्‍योंकि जैसे ही इस Program की Executable File को Double Click करके Run किया जाता है, हमारे Computer System का Internet Explorer Software Start हो जाता है। चूंकि इस C Program में हमने एक Infinite For Loop Use किया है, इसलिए ये Program IE के Continually नए-नए Instances Start करता रहता है। परिणामस्‍वरूप पूरा Computer System केवल इस IE के नए Instance को Start करने में ही पूरी तरह से Busy हो जाता है और हम हमारे Computer System पर कोई दूसरा काम करने में पूरी तरह से अक्षम हो जाते हैं।

ये दोनों ही Virus Programs Windows XP Operating System पर Normal तरीके से Run होते हैं, जबकि नए Operating Systems जैसे कि Windows 7 या Windows 8 पर यदि Powerful Antivirus Software Installed हो, तो Antivirus Program इन दोनों Programs को Run नहीं होने देता बल्कि हमें इस बात का Instruction देता है कि ये Programs वास्‍तव में Maleware या Virus Programs हैं।

हालांकि हम चाहें, तो Antivirus को भी Bypass करते हुए ऐसे Virus Create कर सकते हैं, जो कि पूरे Computer System को पूरी तरह से Damage कर दे, लेकिन हमारा उद्देश्‍य आपको केवल इस बात से परिचित करवाना है कि एक Simple C Program को भी हम किस तरह से Virus Program की तरह Treat करवा सकते हैं।

क्‍योंकि Virus Create करने के लिए किसी Software की जरूरत नहीं होती बल्कि C, C++, Java जैसी किसी भी Programming Language व Target Operating System के बारे में अच्‍छी जानकारी की जरूरत होती है। यानी हम हमारे Target Operating System के विभिन्‍न Components व System Files तथा C, C++, Java, C# जैसी Programming Languages के बारे में बेहतर तरीके से जानते हैं, तो हम बडी ही आसानी से Complex Virus Program Create कर सकते हैं।

तो यदि आप किसी Antivirus Company मे JOB प्राप्‍त करना चाहते हैं अथवा स्‍वयं अपने स्‍तर पर कोई वायरस बनाना चाहते हैं, तो पिळिरलल Operating Systems के विभिन्‍न Components व System Files तथा CC++JavaC# जैसी Programming Languages को सीखना आपके लिए निश्चित रूप से उपयोगी व जरूरी होगा।

उम्‍मीद है, इस Article द्वारा Virus Creation व Virus Working के बारे में आप कुछ ज्‍यादा बेहतर तरीके से समझ पाए होंगे। फिर भी किसी भी तरह के Confusion को Clear करने के लिए आप निम्‍न Comment Box का प्रयोग कर सकते हैं। यथा सम्‍भव आपकी समस्‍या या Confusion का समाधान करने की हम पूरी कोशिश करेंगे। (How To Create a Virus using C Language)

How the switch statement works?
Assembler Compiler and Interpreter. All these are just different.

******

ये पोस्‍ट Useful लगा हो, तो Like कर दीजिए।

C Programming Language in Hindi - BccFalna.com ये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook  C Programming Language in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

C Programming Language in Hindi | Page: 477 + 265 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

Comments

  1. Very good and appreciable.

  2. ye article bahut acha laga
    agar aysa tricks sab mere e mail me bhejte bahut acha hoga sir

  3. RavikumarPatel says:

    like it…

  4. Deepak Bhatt says:

    its amazing………….

  5. dineshaktc raj says:

    very good

  6. santosh alagi says:

    Nice……

Download All Hindi EBooks

सभी हिन्दी EBooks C, C++, Java, C#, ASP.NET, Oracle, Data Structure, VB6, PHP, HTML5, JavaScript, jQuery, WordPress, etc... के DOWNLOAD LINKS प्राप्‍त करें, अपने EMail पर।

Register करके Login करें। इस Popup से छुटकारा पाएें।