Database Related Entities: How to identify them during database design?

Oracle 8i/9i SQL/PLSQL in Hindiये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook Oracle 8i/9i SQL/PLSQL in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

Oracle 8i/9i SQL/PLSQL in Hindi | Page: 587 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

Database Related Entities: किसी समस्या से सम्बंधित वास्तविक Entity को Identify करना कई बार काफी Confusing हो है। यदि हम हमारे Music Store के ही उदाहरण के आधार पर समझें, तो

क्या हम Music Store को Entity के रूप में Identify कर सकते हैं? 

नहीं, हम एसा नहीं कर सकते। क्योंकि Music Store तो उन Entities का एक पूरा Collection है, जिन्हें Music Store Handle करता है। Entity तो वास्तव में Music Store के वे Items हैं, जिन्हें Database द्वारा Manage करना है।

इस बात को ठीक से समझने के लिए हम एक उदाहरण लेते हैं। मानलो कि हम Music Store को ही एक Entity के रूप में Identify कर लेते हैं। अब इस Entity को Represent करने के लिए हमें इसके विभिन्न Attributes का पता करना होगा जो कि Music Store के Item Numbers, Item Titles, Item In Stock, Retail Price आदि होंगे।

लेकिन चूंकि हम पूरे Music Store को ही एक Single Entity के रूप में Describe कर रहे हैं, इसलिए हमें इसके हर Attribute में Multiple Values को Store करना होगा और जैसा कि हमने पहले बताया कि किसी भी Relational Database में कोई भी Attribute Multivalued नहीं हो सकता, इसलिए हम Music Store को एक Single Entity के रूप में Identify नहीं कर सकते हैं, बल्कि हमें इसे Entities के एक Collection के रूप में Identify करना होता है।

एक और उदाहरण देखते हैं, मानलो कि कोई Doctor अपने सभी Patient की Medical History को Maintain करता है। किसी Music Store के Inventory Program की तरह ही Medical History भी एक तरह का एक से ज्यादा Entities का Collection है।

एक Medical History Appointments व उन Appointments के दौरान होने वाली घटनाओं द्वारा बनता है। इसलिए ये History वास्तव में Appointment Entities व Medical Treatment Entities के Instances का Collection है, ना कि स्वयं एक Entity है। “History” तो वह Output है जिसे एक Database Application उसके Entities के Instances (Records) के Collection के रूप में Generate करता है। (Database Related Entities)

What is the differece between Single Valued and Multivalued Attribute
How to identify Logical Data Model Relationships using ER-Diagram?

******

ये पोस्‍ट Useful लगा हो, तो Like कर दीजिए।

Oracle 8i/9i SQL/PLSQL in Hindiये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook Oracle 8i/9i SQL/PLSQL in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

Oracle 8i/9i SQL/PLSQL in Hindi | Page: 587 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

Download All Hindi EBooks

सभी हिन्दी EBooks C, C++, Java, C#, ASP.NET, Oracle, Data Structure, VB6, PHP, HTML5, JavaScript, jQuery, WordPress, etc... के DEMOS के DOWNLOAD LINKS प्राप्‍त करें, अपने EMail पर।

Register करके Login करें। इस Popup से छुटकारा पाएें।