Differences between a Java Applet and an Application

Java Programming Language in Hindiये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook Java in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

Java Programming Language in Hindi | Page: 682 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

Java Applet

Differences between a Java Applet and an Applicationजावा में हम दो तरह के Programs Develop कर सकते हैं। पहले Program वे Program होते हैं जो किसी एक Computer पर Execute होते हैं और किसी समस्या का समाधान प्रदान करते हैं। ये Programs जिस Computer पर Store होते हैं उसी Computer पर Run होते हैं और उस Computer के Resources को Use करते हैं। इस प्रकार के Programs को Application Programs कहते हैं।

जबकि जावा में जिस दूसरे प्रकार के Program को Develop किया जा सकता है, उन Programs को Run होने के लिए जावा Platform Enabled Web Browser की जरूरत होती है। यानी ये वे Programs होते हैं जो किसी ना किसी Web Page में Run होते हैं और इन्हें उपयोग में लेने के लिए हमें Web Browser की जरूरत होती है। जावा में Develop किए जाने वाले इस दूसरे प्रकार के Programs को Java Applets कहते हैं।

Java Applications

Differences between a Java Applet and an Application: जावा इतना सक्षम है कि हम इसमें Professional Applications Develop कर सकते हैं। हम इसमें विभिन्न प्रकार के Window Based Applications बना सकते हैं और उन्हें सफलता पूर्वक उपयोग में ले सकते हैं। लेकिन चूंकि जावा एक Interpreted Language है, इसलिए इसके Programs की Speed “C” व “C++” Languages में Develop किए गए Applications की तुलना में कम होती है।

इसलिए सामान्यतया जावा Based Applications तभी बनाए जाते हैं, जब Application Distributed हो व Network पर Execute होता हो। क्योंकि जावा Internet के लिए एक बहुत ही अच्छी व Powerful Programming Language है, इसलिए इसमें Desktop Applications नहीं बनाए जाते हैं। क्योंकि Desktop Applications के लिए Visual Basic, “C” व “C++” Programming Languages काफी अच्छी Languages हैं, इसलिए जावा का प्रयोग सामान्यतया Web Pages के Applets बनाने के लिए किया जाता है, जिसके बारे में हम आगे विस्तार से समझेंगे। (Differences between a Java Applet and an Application)

5 Basic Parts of a Basic Java Program
How to Create Java Application

Java Programming Language in Hindiये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook Java in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

Java Programming Language in Hindi | Page: 682 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

Download All Hindi EBooks

सभी हिन्दी EBooks C, C++, Java, C#, ASP.NET, Oracle, Data Structure, VB6, PHP, HTML5, JavaScript, jQuery, WordPress, etc... के DOWNLOAD LINKS प्राप्‍त करें, अपने EMail पर।

Register करके Login करें। इस Popup से छुटकारा पाएें।