Floating Point Numbers in C++

CPP Programming Language in Hindiये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook C++ Programming Language in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

C++ Programming Language in Hindi | Page: 666 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

Floating Point Numbers in C++: जब हमें हमारे Program में ऐसे Variables Declare करने होते हैं जो दसमलव वाली संख्‍याओं को Store करने के लिए उपयोग में आने वाली हों, तो हम ऐसे Variables को Float प्रकार के Data Type का Declare करते हैं। हम इन दसमलव वाले मानों को घातांक के रूप में भी Express कर सकते हैं। जैसे 101.456 को 1.01456e2 भी लिख सकते हैं जहां e के बाद का अंक 2 ये बताता है कि यदि इस मान को बिना घातांक वाली संख्‍या में बदलना हो तो जहां वर्तमान में दसमलव है, वहां से दसमलव हटा कर दो स्थान Right में दसमलव लगा दिया जाए। आगे की सारणी में Floating Point Data Type की Range दशार्यी गई हैः

Type Name Size Range             Precision
float 4 bytes (32 bits) 10e-38 to 10e38 5 digits
double 8 bytes (64 bits) 10e-308 to 10e308 15 digits
long double 10 bytes (80 bits) 10e-4932 to 10e4932 19 digits

निम्न उदाहरण से इनके प्रयोग को बताया गया है जहां हम देखते हैं कि हम किसी प्रकार के Data Type के Variable को दसमलव के बाद कितने अंकों तक मान Assign कर सकते हैं।

float pi_float;
double pi_double;
long double pi_long_double;

pi_float = 3.1415;
pi_double = 3.14159265358979;
pi_long_double = 3.141592653589793238;

हम जब पहली बार किसी Data Type का Variable Create करते हैं, उसी समय हम Variable को मान प्रदान कर सकते हैं। यानी हमने उपर जो 6 Statements लिखें हैं उसके स्थान पर हम केवल तीन Statements से भी अपना काम कर सकते हैं। यानी निम्नानुसार Declaration भी कर सकते हैं :

float pi_float = 3.1415;
double pi_double = 3.14159265358979;
long double pi_long_double = 3.141592653589793238;

C++ के IDE में हम जिनते चाहें उतने Spaces का प्रयोग कर सकते हैं। C++ का Compiler इससे प्रभावित नहीं होता है। जैसे

float pi_float = 3.1415;
double pi_double = 3.14159265358979;
long double pi_long_double = 3.141592653589793238;

इसी तरह हम जितने चाहें उतने Tabs, New Lines आदि का प्रयोग कर सकते हैं। C++ का Compiler इन्हें Ignore कर देता है।

 

Comments : Floating Point Numbers in C++

Program के Flow को ध्यान में रखने के लिए और Program की Debugging को सरल बनाने के लिए हम हमारे Program में जगह-जगह Comments देते रहते हैं।  C++ का Compiler इन Comments को Ignore कर देता है। ये केवल हमारे या Program के Developer की सुविधा के लिए होता है। C++ में Comment को दो तरीकों से लिखा जा सकता है। जब हमें केवल एक Line का Comment देना होता है, तब हम // का प्रयोग करते हैं और जब हमें कई Lines का Comment देना होता है तब हम Comment को /* */ के बीच में लिखते हैं। जैसे

// these variables are declared and initialized at the same time
float pi_float = 3.1415; // 5-digit precision
double pi_double = 3.14159265358979; // 15-digit precision
long double pi_long_double = 3.141592653589793238; // 19-digit precision

/* The program is Related to a Constant number of PI for different Data Types of
Floating Point Variables */

 

String Constants Floating Point Numbers in C++

जो Text “” के बीच लिखा जाता है उसे String Constant कहते हैं। जैसे : “Hello World” C++ में हम जिस तरह से किसी Variable में Store मान को Screen पर Print करते हैं उसी तरह से किसी String को भी Print कर सकते हैं। जैसे :

cout << “Enter first Number “;

float Total = 12.2;
cout << Total;

हम एक cout का प्रयोग करते हुए कई Variables के मान को Screen पर Print कर सकते हैं। जैसे :

float feet = 123.33;
cout << "The Size of Feet is "<< feet << "Feets" ;

इसका Output निम्नानुसार होगा –

The Size of Feet is 123.33 Feet

इसी काम को हम तीन अलग-अलग Statements लिख कर निम्नानुसार कर सकते हैं –

cout << "The Size of is
<< feet
<< Feet";

Formatting Output Floating Point Numbers in C++

हम हमारे किसी Program के Output को विभिन्न प्रकार के Format द्वार अच्छी तरीके से Screen पर Print कर सकते हैं। C++ में इस काम से सम्बंधित बहुत सारे तरीके हैं।

C++ में output में New line को प्रदर्शित करने के लिए हमें एक Statement देना पडता है।

Escape Sequences Floating Point Numbers in C++

Output Formatting का सबसे सरल तरीका है Strings के बीच में Escape Sequence Characters का प्रयोग करना। जैसे :

cout << “\n Kuldeep Mishra” ;
cout << “\nFalna”;

यहां नई लाईन प्राप्त करने के लिए हम ‘n’ Character का प्रयोग करते हैं। ये Statement Output में निम्नानुसार Print होगा –

Kuldeep Mishra
Falna

हम String में जिस स्थान पर ‘\n’ का प्रयोग करते हैं, उसी स्थान पर Output में New Line आ जाता है और ‘\n’ के बाद लिखा String New Line में Print होता है। अब यदि हमें निम्नानुसार Format Output में Print करना हो तो हम एक अन्य Character ‘t’ का प्रयोग कर सकते हैं :

Kuldeep     Rahul   Rohit
Mohit         Raja     Rani

//Statements :
cout << "\t Kuldeep \t Rahul \t Rohitn";
cout << "\tMohit \t Raja \t Rani" ;

 

The endl Manipulator Floating Point Numbers in C++

C++ में हम New Line प्राप्त करने के लिए एक अन्य Object जिसे Manipulator कहते हैं, का प्रयोग भी कर सकते हैं। endl Manipulator वही काम करता है जो ‘n’ Character करता है। हम इसका प्रयोग निम्नानुसार कर सकते हैं –

cout << "\t Kuldeep \t Rahul \t Rohit" << endl ;
cout << "\tMohit \t Raja \t Rani" ;

इससे पहले कि हम OOPS को समझते हुए C++ में Classes व Objects Create करके Programming करें, हम सबसे पहले कुछ छोटे-छोटे Programs द्वारा C++ Programming के Basics को समझ लेते हैं। (Floating Point Numbers in C++)

Types and Limits of Integer
Parts of CPP program

CPP Programming Language in Hindiये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook C++ Programming Language in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

C++ Programming Language in Hindi | Page: 666 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

Download All Hindi EBooks

सभी हिन्दी EBooks C, C++, Java, C#, ASP.NET, Oracle, Data Structure, VB6, PHP, HTML5, JavaScript, jQuery, WordPress, etc... के DOWNLOAD LINKS प्राप्‍त करें, अपने EMail पर।

Register करके Login करें। इस Popup से छुटकारा पाएें।