How to use printf() function in C Language properly?

C Programming Language in Hindi - BccFalna.com ये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook  C Programming Language in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

C Programming Language in Hindi | Page: 477 + 265 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

How to Use printf Function in Cprintf() Function का प्रयोग हम किसी भी प्रकार के Numerical या Alphanumerical मान को Screen पर Display करने के लिए करते हैं। इस Function में हमें जो भी Message Screen पर Display करना होता है, उस Message को हम String के रूप में Double Quotes के बीच में लिखते हैं। Double Quotes के बीच में लिखा गया Message ज्यों का त्यों Screen पर Display हो जाता है। उदाहरण के लिए यदि हमें Screen पर “Hello World” Print करना हो, तो हमें printf() Function में इस Message को निम्नानुसार लिखना होता हैः

printf(“Hello World”);

इस Statement का Output हमें निम्नानुसार प्राप्त होता हैः

Hello World

यदि हम इसी Statement को निम्नानुसार लिखते हैं:

    printf(“             Hello                    World”);

जो इस Statement का Output भी हमें निम्नानुसार प्राप्त होता हैः

             Hello                    World

यानी printf() Statement में हम String को जिस Format में लिखते हैं, Output में हमें वह String उसी Format में दिखाई देता है। लेकिन विभिन्न प्रकार की Calculations के बाद प्राप्त होने वाले Result को Display करने के लिए भी हमें printf() Function का ही प्रयोग करना होता है। इस स्थिति में हमें Display किए जाने वाले Data के Data Type के आधार पर किसी ना किसी Control String का प्रयोग करना पडता है।

जब हम Control String का प्रयोग करके किसी Calculated मान को Screen पर Display करना चाहते हैं, तब हमें हमेंशा Data के Source व Data के Target दोनों को printf() Function में Specify करना जरूरी होता है, जहां Source वह मान होता है, जिसे Monitor पर Display करना होता है, जबकि Target वह स्थान होता है, जहां पर Data के मान को Display करना है। Target के स्थान पर Display किए जाने वाले Data के Data Type के Control String को Specify करना होता है। इस तरह से यदि हम printf() Function का पूर्ण Syntax देखें तो वह Syntax निम्नानुसार होता हैः

Syntax:
printf(“Message cntrlStr1 Message cntrlStr2…Message cntrlStrN”, value/Identifir1value/Identifier2 . . . value/IdentifierN)

इस Syntax में Message के स्थान पर हम उस String को लिखते हैं, जिसे ज्यों का त्यों Screen पर Display करना होता है, जबकि cntrlStr के स्थान पर हम उस Control String का प्रयोग करते हैं, जो value/Identifier में Stored Data Type के मान को Display करने में सक्षम होता है।

cntrlStr व valueIdentifier दोनों एक दूसरे के समानान्तर होते हैं। यानी cntrlStr1 के स्थान पर value/Ddentifier1 का मान ही Display होगा, cntrlStr2 के स्थान पर value/Identifier2 का मान ही Display होगा और  cntrlStrN के स्थान पर value/IdentifierN का मान ही Display होगा। इनके क्रम में किसी प्रकार का कोई परिवर्तन नहीं किया जा सकता है।

यानी यदि हम चाहें कि cntrlStr1 के स्थान पर value/Identifier2 का मान Display हो, तो बिना printf() Statement में Change किए हुए हम ऐसा नहीं कर सकते हैं। यदि हमें cntrlStr1 के स्थान पर value/Identifier2 का मान Display करना हो, तो हमें printf() Syntax निम्नानुसार लिखना होगाः

Syntax:
printf(“Message cntrlStr1 Message cntrlStr2…Message cntrlStrN”, value/Identifir2, value/Identifier1 . . . value/IdentifierN)

निम्न Program द्वारा हम विभिन्न प्रकार के Control Strings को Use करने की प्रक्रिया को समझ सकते हैं:

//Program:
#include 
#include 

main()
{
 printf("n Integer = %d", 10);
 printf("n Character = %c", 'X');
 printf("n Float = %f", 13.2);
 printf("n Double = %e", 12365.599999);
 printf("n Double = %g", 12365.599999);
 printf("n String = %s", "Hello World");
 getch();
}

//Output:
Integer = 10
Character = X
Float = 13.200000
Double = 1.236560e+04
Double = 12365.6
String = Hello World

इस Program में Monitor पर String को Display करने की सुविधा प्राप्त करने के लिए हमने stdio.h नाम की Header File को अपने Source Program में Include  किया है, क्योंकि printf() Function को इसी Header File में Define किया गया है, जो कि Monitor पर Output को Display करने का काम करता है।

getch() Function को conio.h नाम की Header File में Define किया गया है, इसलिए हमने getch() की सुविधा को प्राप्त करने के लिए इस Header File को भी अपने Program में Include किया है।

फिर हमने main() Function बनाया है, क्योंकि यही वह Function होता है, जिसमें Computer को दिए जाने वाले विभिन्न Instructions को लिखा जाता है।

हम देख सकते हैं कि सभी printf() Functions में हमने “\n” को Use किया है। इस Character को Backslash Character Constant कहते हैं। ये Constant Computer को हर Message Print करने के पहले एक New Line लेने का Instruction देता है, ताकि Display होने वाला हर Statement एक नई Line में Display हो। यदि हम printf() Function में इस Character Constant का प्रयोग ना करें, तो इस Program का Output हमें एक ही Line में प्राप्त होगा।

इस Program में हम देख सकते हैं कि हर Statement में जिस स्थान पर Control String का प्रयोग किया गया है, Output में उसी स्थान पर वह मान Display हो रहा है, जो मान Source के रूप में Specify किया गया है। इस Program में हमने हर मान को बिना Memory Allocate किए ही Directly Screen पर Display करने के लिए भेज दिया है।

यदि हम चाहें तो सभी प्रकार के मानों को Display करने से पहले उन्हें Memory प्रदान कर सकते हैं और हर Memory को Refer करने के लिए Identifier (Variable or Constants) Set कर सकते हैं। इस प्रक्रिया को Use करते हुए हम पिछले Program को ही निम्नानुसार Modify कर सकते हैं:

#include <stdio.h>
#include <conio.h>
main() 
{
 int Integer = 10; 
 char Character = 'X';
 float Float = 13.2; 
 double Double = 12365.599999; 
 char String[] = "Hello World"; 
 clrscr(); printf("n Integer = %d", Integer); 
 printf("n Character = %c", Character); 
 printf("n Float = %f", Float); 
 printf("n Double = %e", Double); ]
 printf("n Double = %g", Double); 
 printf("n String = %s", String); 
 getch(); 
}

इस Program का Output भी हमें वही प्राप्त होता है, जो पिछले Program का प्राप्त हुआ है। लेकिन इस Program में विभिन्न प्रकार के मान Computer की Memory में प्रत्यक्ष रूप से विद्यमान हैं, जिन्हें किसी दूसरी प्रक्रिया के लिए भी Use किया जा सकता है।

C Language में Characters के समूह यानी String को Memory में Store करने के लिए किसी प्रकार का कोई Primary Data Type नहीं है, बल्कि String को Computer की Memory में Store करने के लिए हमें Character प्रकार का एक One-Dimensional Array Create करना होता है।

printf() Function का प्रयोग सामान्‍यत: C Language के Programs का Output दिखाने के लिए किया जाता है लेकिन केवल printf() Function द्वारा ही इस जरूरत को पूरा नहीं किया जाता, बल्कि C Language में sprintf(), puts(), आदि कई और ऐसे Functions हैं, जिनका प्रयोग विभिन्‍न प्रकार की Output Display करने से सम्‍बंधित जरूरतों को पूरा करने के लिए किया जाता है और इन विभिन्‍न प्रकार के Functions के बारे में C Programming Language in Hindi पुस्‍तक में काफी Detail से व विभिन्‍न प्रकार के Real Life Example Programs के माध्‍यम से समझाया गया है, जो कि किसी भी नए C Programmer के लिए काफी उपयोगी साबित हो सकते हैं। (How to Use printf Function in C)

Character Data Type - The foundation of String
What is Floating Point Literal?

******

ये पोस्‍ट Useful लगा हो, तो Like कर दीजिए।

C Programming Language in Hindi - BccFalna.com ये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook  C Programming Language in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

C Programming Language in Hindi | Page: 477 + 265 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

Download All Hindi EBooks

सभी हिन्दी EBooks C, C++, Java, C#, ASP.NET, Oracle, Data Structure, VB6, PHP, HTML5, JavaScript, jQuery, WordPress, etc... के DOWNLOAD LINKS प्राप्‍त करें, अपने EMail पर।

Register करके Login करें। इस Popup से छुटकारा पाएें।