Packages in Java

Java Programming Language in Hindiये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook Java in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

Java Programming Language in Hindi | Page: 682 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

Packages in Java: अभी तक हमने जितने भी Chapters देखे हैं, उन सभी में हमने विभिन्न प्रकार की Example Classes Create की हैं। हर Example Class का नाम भी हमने अलग-अलग रखा है। हमने पहले भी कहा है कि OOPS की सबसे बडी विशेषता यही है कि हम इसके Concepts को Use करके जब कोई Class Create करते हैं, तो उस Class को हम बार-बार Use कर सकते हैं। यानी OOPS के Concept के कारण हमें जावा में Codes के Reusability की सुविधा प्राप्त होती है।

जावा में Reusability की सुविधा को हम दो तरीकों से प्राप्त कर सकते हैं। पहले तरीके में हम एक Class को Inherit करते हैं और Interfaces को Implement करते हैं। इस प्रक्रिया को हमने पिछले दो अध्‍यायों में समझा है। इस प्रक्रिया में हम जिस Class को जिस Program में Use करना चाहते हैं, उसी Program में Apply करके किसी Class को Extend करते हैं। यानी हम सामान्‍यतया किसी Class की Ability को बढाते हैं।

लेकिन मानलो कि हमें किसी Class को ज्यों का त्यों किसी दूसरे Program में Use करना है और हम उस Class को Copy करके Use करना नहीं चाहते हैं, तो जावा में इस काम को हम Package Concept का प्रयोग करके कर सकते हैं। जावा का Package “C” की Function Library या Header File के समान ही है। जावा में Reusability की सुविधा प्राप्त करने का दूसरा तरीका Package है। Package को सामान्‍यतया Class Library भी कहते हैं।

Package जावा का एक तरीका है जिसका प्रयोग करके विभिन्न प्रकार की Classes and / Or Interfaces को एक साथ Group किया जाता है। सामान्‍यतया विभिन्न प्रकार की वे Classes जो एक ही प्रकार के Related काम करती हैं, एक Group के रूप में Define किया जा सकता है। जब जावा में इस प्रकार की Grouping की जाती है, तो Group की गई विभिन्न प्रकार की Classes के समूह को Package कहा जाता है। वास्तव में Packages Containers की तरह काम करते हैं। Related Classes के समूह को Package के Form में Organize करके हम निम्न सुविधाएं प्राप्त करते हैं:

  • किसी Package में स्थित विभिन्न Classes को हम आसानी से Reuse कर सकते हैं।
  • एक Package की Classes दूसरे Package की Classes की तुलना में Unique होती हैं, क्योंकि समान प्रकार के काम करने वाली विभिन्न Classes को एक ही Package में Group कर लिया जाता है। हम किसी Package की किसी Specific Class को एक Fully Qualified Path द्वारा Access कर सकते हैं।
  • Package हमें एक ऐसा तरीका प्रदान करते हैं, जिससे हम किसी Class के समूह को General Use के लिए Unavailable कर सकते हैं। यानी Package हमें Classes को Hide करने की सुविधा देता है, जिसकी वजह से हम किसी अन्‍य Program या Package को किसी Package की Internal Classes को Use करने से रोक सकते हैं।
  • Packages हमें एक ऐसा तरीका Provide करता है, जिससे हम Program के Coding व Design दोनों को अलग-अलग रख सकते हैं। सबसे पहले हम विभिन्न प्रकार की Classes को Design कर सकते हैं और विभिन्न प्रकार की अन्‍य Classes से उनकी Relationship तय कर सकते हैं और फिर हम Class के Methods के लिए जरूरी Codes को Implement कर सकते हैं। Packages की वजह से ऐसा भी सम्भव होता है कि हम किसी भी Method को बिना Program के Design में Change किए Modify कर सकते हैं।

ज्यादातर Applications में हमें विभिन्न प्रकार की Classes के समूह को Use करना होता है, जहां एक प्रकार की Class हमारे Application के Internal Data को Represent करती हैं, जबकि दूसरे प्रकार की Classes हमारे Program के External Representation को तय करती हैं। हम हमारे Application से सम्बंधित Data को Handle करने के लिए स्वं; की Classes भी बना सकते हैं और Application के User Interface को Develop करने के लिए जावा की Internal Packages या Class Library में स्थित Classes को भी Use कर सकते हैं।

जब हम हमारी जरूरत के आधार पर Program के Data को Manage करने के लिए Classes Create करके उन्हें किसी Packages में Hold करते हैं, तो इस Package को User Defined Package कहते हैं, जबकि जावा की पहले से Existing Classes को Java API Packages कहते हैं। अभी तक हमने जितने भी Packages import Statement द्वारा अपने किसी Program में Import किए हैं, वे सभी Java API के Packages हैं। अब हम User Defined Packages को Create व Use करना सीखेंगे।

Java Custom Exception
Package Naming Convention in Java

******

ये पोस्‍ट Useful लगा हो, तो Like कर दीजिए।

Java Programming Language in Hindiये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook Java in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

Java Programming Language in Hindi | Page: 682 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

Download All Hindi EBooks

सभी हिन्दी EBooks C, C++, Java, C#, ASP.NET, Oracle, Data Structure, VB6, PHP, HTML5, JavaScript, jQuery, WordPress, etc... के DOWNLOAD LINKS प्राप्‍त करें, अपने EMail पर।

Register करके Login करें। इस Popup से छुटकारा पाएें।