Preprocessor Directives in C

C Programming Language in Hindi - BccFalna.com ये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook  C Programming Language in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

C Programming Language in Hindi | Page: 477 + 265 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

Preprocessor Directives in C: हम हमारे Source Program में जो Source Codes लिखते हैं, वे तब Process होते हैं, जब हम हमारी Source File को Compile करते हैं। लेकिन “C” में कुछ Preprocessors की व्‍यवस्था भी की गई है। Preprocessor के रूप में हम हमारी Source File में जो भी Statements लिखते हैं, वे Compilation से पहले Process होते हैं। इन Statements को सामान्‍यतया Directives कहा जाता है।

हम हमारे Program में C Preprocessors का प्रयोग किए बिना भी Program लिख सकते हैं। लेकिन Preprocessors “C” की एक बहुत ही अच्छी Facility है, जिसे Use करके हम हमारे Program को अधिक Manageable तरीके से Develop कर सकते हैं।

सामान्‍यतया इन Preprocessors का प्रयोग Header Files में किया जाता है, ताकि Header Files को कई प्रकार से Use किया जा सके। इन Preprocessors का प्रयोग Header File को Custom तरीके से Source File में Expand करने के लिए किया जाता है।

किसी “C” Program को लिखने व Execute करने के बीच कई Steps होते हैं। इन विभिन्न प्रकार के Steps के समूह को “Build Process” कहा जाता है। जब हम किसी Source Program को Compile करते हैं तो Program Compile होने से पहले एक अन्‍य Program में Pass होता है जिसे Preprocessor कहते हैं।

“C” में लिखे गए Program को हम सामान्‍यतया “Source Code” कहते हैं। Preprocessor Source Codes पर काम करता है और Expanded Source Codes Generate करता है जहां यदि किसी Source Code File का नाम program1.c है तो Expanded Source Code File का नाम program1.i हो जाता है।

Directives

Preprocessors कई Features प्रदान करता है जिसे Directives कहते हैं। Preprocessor Directives को लिखने का तरीका “C” के Statements लिखने के तरीके से अलग होता है। हर Preprocessor Directive # Sign से शुरू होता है और Preprocessor Statement के बाद Semi Colon का प्रयोग नहीं किया होता है।

हमने इन Directives का प्रयोग #define व #include के रूप में पिछले Programs में किया है। इन Directives को Program में कहीं भी Place किया जा सकता है लेकिन सामान्‍यतया इन्हें किसी भी Function Definition के पहले लिखते हैं चाहे वह main() Function ही क्यों ना हो। सामान्‍यतया Preprocessors को Macro भी कहते हैं। हम निम्न Directives को सर्वाधिक उपयोग में लेते हैं:

Preprocessor Directives in C

Preprocessor Directives in C

इन Directives को निम्‍नानुसार तीन भागों में बांटा जा सकता है:

Character Manipulation Functions
Macro Substitution Directive

C Programming Language in Hindi - BccFalna.com ये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook  C Programming Language in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

C Programming Language in Hindi | Page: 477 + 265 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

Download All Hindi EBooks

सभी हिन्दी EBooks C, C++, Java, C#, ASP.NET, Oracle, Data Structure, VB6, PHP, HTML5, JavaScript, jQuery, WordPress, etc... के DOWNLOAD LINKS प्राप्‍त करें, अपने EMail पर।

Register करके Login करें। इस Popup से छुटकारा पाएें।