What is Data Processing and Information?

C Programming Language in Hindi - BccFalna.com ये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook  C Programming Language in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

C Programming Language in Hindi | Page: 477 + 265 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

How Data Processing and Information is Relatedसभ्यता की शुरूआत से ही मानव को Information की जरूरत रही है। इसीलिए वह समय-समय पर सूचनाओं को एकत्रित करने व उन सूचनाओं के आधार पर सही व उचित निर्णय लेने के नए व विकसित तरीके खोजता रहा है। सूचना की आवश्‍यकता व महत्व के कारण ही सबसे पहला आविष्‍कार कागजकलम का हुआ। फिर जैसे-जैसे मानव का विकास होता गया वैसे-वैसे उसने नए शहर, राज्य व देश बनाए और उन देशों के बीच व्यापार व वाणिज्य के कारण विभिन्न प्रकार के सम्बंध बने और आज केवल व्यापार व वाणिज्य ही नहीं बल्कि जीवन की लगभग हर सूचना का Internet के माध्यम से इन देशों के बीच आदान प्रदान हो रहा है।

सरल शब्‍दों में कहें तो कृषि क्रांतिऔधोगिक क्रांति के बाद आज हम सूचना क्रांति के युग में जी रहे हैं और किसी भी अन्‍य क्रान्ति की तुलना में सूचना क्रान्ति का विकास बहुत ही ज्‍यादा तेज गति से हुआ है।

सभ्यता की शुरूआत में सूचनाओं को मिट्‌टी के बर्तनों पर चित्रात्मक रूप में व शब्दों के रूप में लिखा जाता था। फिर कागज व कलम के विकास के साथ ही विभिन्न प्रकार की सूचनाओं को कागज के रूप में Store करके रखा जाने लगा और आज हम इन्हीं सूचनाओं को Computer पर Manage करते हैं।

विभिन्न प्रकार के आंकडों (Data) का संकलन (Collection) करना और फिर उन आंकडों को विभिन्न प्रकार से वर्गीकृत (Classify) करके उनका विश्‍लेशण (Analyze ) करना तथा उचित समय पर उचिन निर्णय लेने की क्षमता प्राप्त करना, इस पूरी प्रक्रिया को Computer की भाषा में Data Processing करना कहा जाता है।

Data – Value or a Set of Values

असिद्ध तथ्य (Facts) अंक (Figures) व सांखियकी (Static) का वह समूह जिस पर प्रक्रिया (Processing) करने पर एक अर्थपूर्ण (Meaningful) सूचना (Information) प्राप्त (Generate) हो, Data कहलाती है। Data मान या मानों का एक समूह (Value or a Set of Values) होता है, जिसके आधार पर (After Processing) हम निर्णय (Decision) लेते हैं।

इसे एक उदाहरण द्वारा समझने की कोशिश करते हैं। संख्‍याएं (0 से 9 तक) कुल दस ही होती हैं। लेकिन यदि इन्हें एक व्यवस्थित क्रम में रख दिया जाए, तो एक सूचना Generate होती है। इसलिए ये संख्‍याएं, Data हैं।

इसी तरह से अंग्रेजी भाषा में Small व Capital Letters के कुल 52 Characters ही होते हैं, लेकिन यदि इन्हें एक सुव्यवस्थित क्रम में रखा जाए, तो हजारों पुस्तकें बन सकती हैं। इसलिए ये Characters भी Data हैं।

Computer में हम इन्हीं दो रूपों में वास्तविक जीवन की विभिन्न बातों को Store करते हैं और उन पर Processing करके आवश्‍यकतानुसार Information Generate करते हैं।

जैसे किसी School के विभिन्न Students की ये जानकारी रखनी हो कि किसी Class में कौन-कौन से Students हैं, उनका Serial Number क्या है और वे किस Address पर रहते हैं, तो ये सभी तथ्य असिद्ध रूप में Computer के लिए Data हैं क्योंकि किसी Student के Serial number को 0 से 9 के कुछ अंकों के समूह के रूप में ही Express किया जाता है और Student का नाम व पता Characters के एक सुव्यवस्थित समूह के रूप में Express किया जाता है।

जब 0 से 9 तक के कुछ अंकों को एक समूह में व्यवस्थित किया जाता है तब किसी एक Student का एक Serial Number बन जाता है और जब विभिन्न Characters को एक समूह में व्यवस्थित किया जाता है, तब किसी Student का नाम व Address बन जाता है। ये नाम व Address ही किसी Student के सम्‍बंध में कुछ Information प्रदान करते हैं।

Processing – Generating Results

Data जैसे कि अक्षर, अंक, सांख्‍यकी Static या किसी चित्र को सुव्यवस्थित करना या उनकी Calculation करना, Processing कहलाता है। किसी भी Processing मे निम्न काम होते हैं:

Calculation : किसी मान को जोडना, घटाना, गुणा करना, भाग देना आदि।
Comparison : कोई मान बडा, छोटा, शून्य, Positive, Negative, बराबर है आदि।
Decision Making : किसी Condition के आधार पर निर्णय लेना।
Logic : आवश्‍यक परिणाम को प्राप्त करने के लिए अपनाया जाने वाला Steps का क्रम।

केवल अंकों की गणना करना ही Processing नहीं कहलाता है। बल्कि किसी भी प्रकार के मान को जैसे कि किसी Document में से गलतियों को खोजने की प्रक्रिया या कुछ नामों के समूह को आरोही (Ascending) या अवरोही (Descending) क्रम में व्यवस्थित करने की प्रक्रिया को भी Processing ही कहते हैं।

Computer में Keyboard से जो भी Data Input किया जाता है, उस Data का तब तक कोई अर्थ नहीं होता है, जब तक कि Computer द्वारा उस Data पर किसी प्रकार की कोई Processing ना की जाए।

उदाहरण के लिए Computer में R, a, d, h, a ये पांच अक्षर अलग-अलग Input किए जाते हैं, इसलिए ये सभी अक्षर Row Data के समान हैं। Computer इन पांचों अक्षरों पर Processing करके इन्हें एक क्रम में व्यवस्थित कर देता है और हमें “Radha” नाम प्रदान करता है, जो कि एक अर्थपूर्ण सूचना (Information) है।

Information – Processed

जिस Data पर Processing हो चुकी होती है, उसे Processed Data या Information कहते हैं। दूसरे शब्दों में कहें तो किसी Data पर Processing होने के बाद जो अर्थपूर्ण परिणाम (Result) प्राप्त होता है, उसे ही सूचना (Information) कहते हैं। एक Processing से Generate होने वाली किसी Information को हम किसी दूसरी Processing में फिर से Data के रूप में उपयोग में लेकर नई Information Generate कर सकते हैं और ये क्रम आगे भी जारी रखा जा सकता है।

उदाहरण के लिए R, a, m, K, i, l, l, e, d, R, a, v, a, n ये Characters हम अलग-अलग Input करते हैं। Computer पहले इन पर Processing करके Ram, Killed व Ravan तीन शब्द बनाता है, जो कि हमारे लिए तीन अलग सूचनाओं को Represent करता है। क्योंकि Ram, Ravan व Killed तीनों ही शब्द अपने आप में परिपूर्ण हैं, इसलिए ये तीनों ही शब्द एक प्रकार की सूचना हैं, जबकि यदि “Ram Killed Ravan” लिखा जाए तो इस वाक्य के लिए ये तीनों ही शब्द एक Data के समान हैं, जो Processing के कारण आपस में एक व्यवस्थित क्रम में Arrange होकर एक सूचना प्रदान कर रहे हैं।

सारांश में कहें तो Computer में हम सभी प्रकार की सूचनाओं को Data के रुप मे Store करते हैं। इन Data पर Processing करते हैं जिससे सूचनाएं Generate होती हैं और इन सूचनाओं के आधार पर हम निर्णय लेते हैं। Data वास्तव में कोई अंक अक्षर या चित्र हो सकता है। Computer में इन्हीं मानों को Manage किया जाता है।

“यानी Data वास्तव में कोई मान या मानों का एक समूह होता है।”

क्‍या आपको Data, Processing व Information के बारे में इस Article में दी गई जानकारी पूरी तरह से समझ में आई? वास्‍तव में ये Article हमारी पुस्‍तक C Programming Language in Hindi से लिया गया है और यदि आपको ये जानकारी आसानी से समझ में आ रही है, तो इस पुस्‍तक के माध्‍यम से आप बडी ही आसानी से C Programming सीख सकते हैं क्‍योंकि पूरी पुस्‍तक में ही विभिन्‍न Programming Concepts को इतनी ही सरल भाषा में लिखा गया है। (How Data Processing and Information is Related)

There is only 4 Types of Programming.

******

ये पोस्‍ट Useful लगा हो, तो Like कर दीजिए।

C Programming Language in Hindi - BccFalna.com ये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook  C Programming Language in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

C Programming Language in Hindi | Page: 477 + 265 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

Download All Hindi EBooks

सभी हिन्दी EBooks C, C++, Java, C#, ASP.NET, Oracle, Data Structure, VB6, PHP, HTML5, JavaScript, jQuery, WordPress, etc... के DOWNLOAD LINKS प्राप्‍त करें, अपने EMail पर।

Register करके Login करें। इस Popup से छुटकारा पाएें।