Reseller Hosting Providers – Don’t buy their Shared Hosting

WordPress in Hindi - BccFalna.comये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook WordPress in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

WordPress in Hindi | Page: 420 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

Reseller Hosting Providers: BccFalna.com को पहले मैं एक Indian Hosting Provider Company पर Host कर रखा था और काफी लम्बे समय से इसी एक Hosting Provider के साथ Associated था, जो कि मेरे Online Business के Career में मेरी दूसरी सबसे बडी गलती भी थी। क्योंकि अपनी Website से Related छोटे-मोटे Technical Issues के अलावा कोई बडा Issue Solve करने में इस Company का पूरा Customer Care Support System Fail हो गया और जहां तक मैंने जाना, इस Reseller Company में केवल दो ही लोग हैं, जिनके स्वयं के पास कोई ज्‍यादा तकनीकी ज्ञान नहीं है।

हालांकि जब मैं Blogger से Paid Hosting पर Move करना चाहता था, तब इस Company द्वारा Offer की जाने वाली Services के लिहाज से मुझे यही Hosting Provider सबसे सस्ता लगा और वर्तमान में भी यदि में सबसे सस्ता Hosting Provider Search करता हूं, तो इसके द्वारा Offer की जाने वाली Services की तुलना में अभी भी मुझे इससे सस्ता Hosting Provider नहीं मिलता। लेकिन वास्तव में इस Hosting Provider की कम्पनी में केवल दो ही लोग हैं और इनका स्वयं का Hosting Server भी नहीं है बल्कि ये किसी अन्‍य Hosting Server के Reseller हैं, इसलिए Host Server पर इनका कोई Control भी नहीं है। परिणामस्वरूप हमारी Website से सम्बंधित किसी भी प्रकार का Issue होने पर ये हमें गोल-गोल घुमाते हैं, क्योंकि इन्हें स्वयं को भी पता नहीं होता कि वास्तव में Issue क्या है और उसे कैसे Resolve किया जाना चाहिए।

इनके Reseller Plan पर अपनी Website Host करने पर हमारी Website के लिए पैदा होने वाले विभिन्न Issues की मुख्‍य वजह भी यही है कि ये Reseller हैं और Reseller होने की वजह से एक ही Reseller Plan पर ज्‍यादा से ज्‍यादा Websites को Host करके ये लोग ज्‍यादा से ज्‍यादा Profit कमाना चाहते हैं और ज्‍यादा से ज्‍यादा Profit कमाने के चक्कर में ये लोग अपने Packages की कीमत काफी कम रखते हैं।यदि ऐसा कहें कि Provide किए जाने वाले Features के लिहाज से दुनियां की सबसे कम कीमत वाला Package Provide करते हैं, तो गलत नहीं होगा।

कीमत कम होने की वजह से ये जरूरी हो जाता है कि ये एक ही Reseller Plan में बहुत सारी छोटी-छोटी Websites को Host करें और ये करते भी ऐसा ही हैं। स्थिति तब तक सामान्‍य रहती है, जब तक इनके Reseller Hosting Account में 5 – 10 Page की बहुत सारी Websites Host होती हैं, क्योंकि हर Website Owner इन्हें समान Payment Pay करता है और बहुत सारी Websites मिलकर भी BccFalna.com के Pages की बराबरी नहीं कर पाते। इस प्रक्रिया को एक उदाहरण द्वारा समझते हैं।

मानलो कि इस Reseller Account में 500 Websites Shared तरीके से Hosted हैं और हर Website में औसतन 10 Webpage हैं। यानी कुल 5000 Page हैं, जबकि अकेले BccFalna.com में 400 Webpages Exist हैं जो कि कम से कम 40 Websites के बराबर हैं। ऐसे में यदि हर Website Business Plan में Hosted हो, जिसकी कीमत 1000/- प्रतिवर्ष है, तो Reseller Hosting Provider को प्रतिवर्ष एक Reseller Account से 40000/- रूपए की Income होती है। जबकि BccFalna.com अकेले 40 Websites के बराबर Resources Use कर रहा है, जिसकी वजह से Indirectly देखा जाए, तो उस Reseller Hosting Provider को मेरी Website के कारण 39000/- रूपए का सालाना नुकसान हो रहा था।

परिणामस्वरूप ऐसे में ये Hosting Provider हमें कैसे कहे कि BccFalna.com को किसी अन्‍य Server पर ले जाओ। क्योंकि ऐसा कहना तो इसी बात का Indication है कि ये Website उनके Web Server की Capacity से ज्‍यादा बडी है, जो कि Indirectly उनकी Insult है।इसलिए सबसे बेहतर तरीका तो यही है कि Client को Ignore करो, ताकि वह स्वयं ही अपने आप किसी अन्‍य Host पर चला जाए और यही किया गया मेरे साथ।

जबकि जो Web Hosting Provider थोडे महंगे होते हैं, उन्हें एक ही Server पर 10000 Websites को Host करने की जरूरत नहीं होती क्योंकि वे अपने Plan की कीमत लगभग 3 गुना रख लेते हैं, परिणामस्वरूप अपने प्रत्‍येक Server पर उन्‍हें बहुत ज्‍यादा Websites को Host करने की जरूरत ही नहीं रहती जिसकी वजह से इन Servers पर Hosted Websites एक दूसरे पर ज्‍यादा Load नहीं डालतीं और Normal तरीके से Run होती हैं।

यानी थोडे महंगे Hosting Providers ज्‍यादा बेहतर Resources उपलब्ध करवाते हैं और Quality Maintain करते हैं, इसीलिए थोडे महंगे होते हैं। जबकि सस्ते Hosting Providers को अपने सस्ते Plans को Maintain करने के लिए Quality के साथ समझौता करना पडता है और एक ही Web Server पर क्षमता से अधिक Websites को Shared करते हुए Host करना पडता है। इसलिए इस जैसी सस्ती कम्पनी के Shared Hosting को Purchase करना बेवकूफी के अलावा और कुछ नहीं है जो Directly व Indirectly भविष्‍य में काफी नुकसानदायक साबित होती है।

जब मैं BccFalna.com को Blogger जैसे Free Host से Paid Hosting पर Move करने के लिए सबसे सस्ते Web Hosting Provider को Search कर रहा था, तब मुझे स्वयं को इस Website की Earning के विषय में कोई विशेष Confidence नहीं था कि ये Website 1 साल बाद ही 10 से 15 हजार प्रतिमाह की Income Generate करने लगेगी।  इसलिए उस समय मेरा मूल उद्देश्‍य सस्ती से सस्ती Web Hosting Purchase करना था, ताकि यदि किसी कारणवश ये Website कोई विशेष Earning न भी करे, तब भी मैं इसे Afford कर सकूं। लेकिन Cheapest Web Host के चक्कर में मेरा इतना Direct व Indirect नुकसान होगा, इस बात का मुझे बिल्कुल भी अन्दाजा नहीं था।

अत: यदि आप भी इस जैसे Reseller Hosting Provider से सस्ता Hosting Plan खरीदने का विचार कर रहे हैं, तो एक बार फिर सोंच लेना आपके लिए ठीक रहेगा कि मात्र 500/- से 1000/- रूपए प्रतिवर्ष का लालच करके कहीं आप भविष्‍य में हजारों रूपए के Direct व Indirect नुकसान के रूप में भोगने के लिए तो तैयार नहीं हो रहे हैं।

इसके अलावा Online Marketing Business में कुछ कहावतें बहुत प्रसिद्ध हैं। जैसे कि:

“Content is King”,
“Keyword is Queen”,
“Money is in List” 

आदि और ये सभी कहावतें बिल्कुल सही भी हैं। वास्तव में देखा जाए तो आपके Subscribers, Followers, Friends आदि की List जितनी बडी होती है, आपकी Online Earning भी उतनी ही ज्‍यादा होती है। अभी तक का मेरा स्वयं का अनुभव ये है कि हर Email Subscriber या Reader आपको प्रति माह Directly या Indirectly कम से कम औसतन 5/- रूपए देता है। यानी यदि आपके Website पर कुल Registered Email Subscribers की संख्‍या 1000 है, तो आप प्रतिमाह कम से कम 5000/- रूपए की Earning कर सकते हैं। जबकि यदि आपके Website पर कुल Registered Email Subscribers की संख्‍या 5000 है, तो आप प्रतिमाह कम से कम 25000/- रूपए की Earning कर सकते हैं। यानी किसी Website के वास्तविक Subscribers की संख्‍या के आधार पर ही आप ये तय कर सकते हैं कि उस Website Owner की कम से कम Monthly Income कितनी होगी।

उदाहरण के लिए यदि आप मेरी Website BccFalna.com पर देखेंगे, तो आपको फिलहाल 12000 से ज्‍यादा FeedBurner Subscribers दिखाई देंगे। जो कि इसी बात का Indication है कि BccFalna.com प्रतिमाह कम से कम 40 हजार रूपए Online Income के रूप में Generate कर सकता है। हालांकि कोई Website Online Income Generate करता है या नहीं, ये बात पूरी तरह से उस Website के Content व Monetization System पर निर्भर करती है।

उदाहरण के लिए यदि किसी Website पर 10000 से ज्‍यादा Registered Subscribers हैं, लेकिन वह कुछ भी Promote नहीं करता अथवा केवल PPC/CPM जैसी Advertisements द्वारा Generate होने वाली Earning पर ही निर्भर है, तो उस स्थिति में उस Website की Earning 50 हजार रूपए प्रतिमाह होगी, इसकी कोई सम्भावना नहीं है। लेकिन उस Website में कम से कम 50 हजार प्रतिमाह का Income Generate करने की क्षमता जरूर है।

Valid रूप से Registered इन्हीं Subscribers के Name व Email Address के Collection को Online Marketing Business में List कहा जाता है और इस List को आप जितना ज्‍यादा बढाते हैं, आपकी Website का Online Income भी उसी के अनुसार कम से कम 5 गुना ज्‍यादा के अनुपात में बढता जाता है। क्योंकि सामान्‍यत: आप अपने Registered Subscribers को Email के माध्‍यम से तरह-तरह के उपयोगी Content व Offer Send करते हैं और इन्हीं Registered Subscribers में से हर महीने कम से कम 1% से 2% लोग आप द्वारा Offer किया गया Product खरीदते हैं।

उदाहरण के लिए आपकी Website पर आप कोई ऐसा Information Product Sell करते हैं, जिसकी कीमत 500/- रूपए है और आपकी Website के साथ Valid तरीके से कुल 1000 लोगों ने Register किया है। इन्हीं 1000 लोगों को आप अपने Product के बारे में अथवा किसी Specific Problem के बारे में अपने Articles के माध्‍यम से Educate करते हैं।

परिणामस्वरूप कम से कम Online Conversion Rate लगभग 1% के अनुसार इन 1000 लोगों में से कम से कम 10 लोग आपका Product खरीदने के इच्छुक हो जाते हैं और यदि 10 लोग भी आपका Product खरीदते हैं तो आपको 10 x 500 = 5000/- रूपए की Income होती है। हालांकि जरूरी नहीं है कि आप जैसे ही Email Send करेंगे, आपकी Selling Increase हो जाएगी। वास्तव में Online Business में कम से कम 5 से 10 बार आपका Customer आपको व आपकी Website को Check करता है, उसे अन्‍य Websites पर मिलने वाले Products से Compare करता है और अन्त में यदि आपका Product ही उसे सबसे Best Product लगता है, तो वह आपसे खरीदता है।

इसलिए आपकी Subscriber List में से कितने लोग आपके Product को खरीदते हैं, ये बात इस तथ्य पर भी निर्भर करता है कि आपके सभी Subscribers को आपने कुल कितनी बार उनके Problem से सम्बंधित Informative Educational Material Provide किया और उस Specific Problem को Resolve करने में आपका Product किस प्रकार से उनकी मदद कर सकता है, जिस विषय में आपने उन्हें Emails के माध्‍यम से Offer दिया।

जब आप अपने Subscribers को कम से कम 5 से 10 बार किसी Specific Problem के बारे में Email या अन्‍य माध्‍यमों से Contact करते हैं, तब आपका Subscriber Convince होता है और आप द्वारा Offered Product को खरीदने के बारे में सोंचता है। यानी आप अपने Subscribers को अपने Customers में तभी बदल सकते हैं, जबकि आप उन्हें समय-समय पर Newsletters Send करते रहें, जिसमें उनकी Problem से सम्बंधित उपयोगी Information हो और Indirectly उन्हें इस बात का अहसास हो कि उनकी Problem का एक आसान Solution आपके पास है, जिसे वे खरीद सकते हैं।

लेकिन सस्ते व Reseller Hosting Plan द्वारा आप बेहतर तरीके से ऐसा नहीं कर सकते, क्योंकि Reseller Hosting Plan Providers के पास न तो पर्याप्त Resource होते हैं न ही उन्हें पर्याप्त Technical Knowledge होता है, जो किसी Specific Website Issue को Solve करने में आपकी मदद कर सकें। साथ ही सस्ते व Reseller Hosting Plans ही नहीं बल्कि कई महंगे Hosting Plans जैसे कि GoDaddy, BlueHost, Hosting Monster जैसे बडे Hosting Provider भी Email Sending की एक निश्चित Limit रखते हैं, जो कि 50 से 200 Emails / Hour के बीच ही होती है, हालांकि इन Hosting Providers के Basic Plan की कीमत भी कम से कम $6 से $10 प्रतिमाह तक होती है।

जबकि कम से कम 20 Emails तो आपको प्रति घण्‍टा नए Subscribers को Subscribe करने, Contact Form द्वारा Visitor के Website Owner से Contact करने व अन्‍य प्रकार की जरूरतों को पूरा करने के लिए Reserved रखने होते हैं, ताकि यदि कोई नया User आपकी Website पर Register करना चाहे या आपसे Contact करना चाहे, तो उसे “Email Sending Limit Reached” जैसी Error का सामना न करना पडे। यानी आप इस प्रकार के 50 Emails प्रति घण्‍टा Limit देने वाले सस्ते Reseller Hosting Providers के माध्‍यम से प्रति घण्‍टा अधिकतम 30 Emails यानी एक दिन में 24 x 30 = 720 Emails Send से ज्‍यादा Send नहीं कर सकते हैं। जबकि अधिकतम 200 या 300 Emails प्रति घण्‍टा Send करने की Limit प्राप्त करने के लिए इन बडे Hosting Providers के बडे Hosting Plans खरीदने पडेंगे, जिनकी कीमत कम से कम $10 प्रतिमाह या उससे ज्‍यादा होती है।

आप समझ सकते हैं कि ये Limit काफी कम है और नाम बडे र्शछोटे वाली बात है, क्योंकि प्रतिमाह $10 के आसपास Charge करने के बावजूद इन Hosting Providers द्वारा Email Sending Limit को काफी कम रखा जाता है, जो कि एक नए Online Business को Establish करने से सम्बंधित सबसे बडी बाधा है, जिस पर शुरूआत में आपका ध्‍यान नहीं जाता, लेकिन जब आपको इस बात का पता चलता है कि “Money is in the List”, तब आप फिर से सोंचने और एक ज्‍यादा Email Sending Limit वाले Hosting Provider पर Switch करने के लिए मजबूर हो जाते हैं, जो आपको ज्‍यादा Email Sending Limit Provide करे।

क्योंकि Awaber या MailChimp जैसी सबसे सस्ती कही जाने वाली Email Sending Services की कीमत तो $19 प्रतिमाह के आसपास है, जबकि आप इतना पैसा Pay करके भी प्रतिमाह कितने लोगों को कितनी बार Email Send कर सकते हैं, इसकी भी Limit है। जबकि मैं अपने Hosting Provider के जिस $3.29 / Month वाले Basic Plan पर अपनी Website को Host कर रहा हूं, वह मुझे 500 Emails प्रति घण्‍टा यानी 12000 Emails प्रतिदिन Send करने की Limit देता है जो कि एक Online Business Establish करने की शुरूआत करने के लिहाज से काफी ज्‍यादा है।

इसलिए यदि आप आज Email Sending Limit को कोई महत्व न देते हुए सस्ता Reseller Hosting Plan Purchase करने जा रहे हैं या किसी बडे नाम वाली कम्पनी की Hosting को बिना उसके Email Sending Limit को जाने हुए Use कर रहे हैं और अपने Visitors के Emails Capture करने पर आपका कोई ध्‍यान नहीं है, तो निश्चित रूप से आप अपने Online Business रूपी पेड की जडों में पानी नहीं तेजाब डाल रहे हैं, जो कभी नहीं बढ सकता।

Web Hosting से सम्बंधित कुछ और Technical बातें जैसे कि Concurrent Connections, Email Sending Limits, Low Speed and High Speed Multi-Core Processor Based Physical Servers आदि भी होती हैं, जिन्हें कोई भी Hosting Provider अपनी Website पर किसी भी Hosting Plan के साथ Specify नहीं करता। क्योंकि ये किसी भी Web Host के वे Technical Issues होते हैं, जो उनके विभिन्न Plans की Limits तय करते हैं।

इसीलिए हम जैसे सामान्‍य लोग केवल Hosting Space व Band Width के आधार पर इस बात का निर्णय लेते हैं कि हमें हमारी Website के लिए कैसे Hosting Plan की जरूरत है, जबकि वास्तव में Bandwidth व Disk Space किसी भी Hosting के सबसे मामूली Issues होते हैं और एक Online Business Establish करने व Online Earning Generate करने के लिए हमें कम से कम Email Sending Limit, Addon Domain, Sub-Domain, Parked Domain, Database Limits, Physical Memory (RAM) Limits आदि की Limits के बारे में जरूर जानकारी प्राप्त कर लेनी चाहिए, ताकि इस बात का ज्‍यादा बेहतर तरीके से निर्णय लिया जा सके कि आप जिस Hosting Plan को Purchase कर रहे हैं, उस Hosting Provider द्वारा Provide किए जाने वाले अलग-अलग Hosting Plans में विभिन्न Resources की अधिकतम Limitations क्या हैं, ताकि आप तय कर सकें कि कौनसा Hosting Plan आपकी Website की जरूरतों को बेहतर तरीके से पूरा करने में पूरी तरह से सक्षम है और इन तकनीकी बातों के बारे में हम हमारे अागे आने वाले अन्‍य Articles में विस्‍तार से Discuss करेंगे।

Think 10 times more before buying Cheap Hosting Plans
How to Buy Domain Name and Web Hosting - InfoImages

WordPress in Hindi - BccFalna.comये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook WordPress in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

WordPress in Hindi | Page: 420 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

Download All Hindi EBooks

सभी हिन्दी EBooks C, C++, Java, C#, ASP.NET, Oracle, Data Structure, VB6, PHP, HTML5, JavaScript, jQuery, WordPress, etc... के DOWNLOAD LINKS प्राप्‍त करें, अपने EMail पर।

Register करके Login करें। इस Popup से छुटकारा पाएें।