Type Declaration Instructions in Programming

C Programming Language in Hindi - BccFalna.com ये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook  C Programming Language in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

C Programming Language in Hindi | Page: 477 + 265 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

Type Declaration Instructions : “C” Language में किसी Program File में हम मुख्‍यतया तीन तरह के Instructions लिखते हैं। इन तीनों प्रकार के Instructions का एक विशेष काम होता है और हर प्रकार Instruction अपने उस विशेष काम को पूरा करता है। ये तीनों Instructions निम्नानुसार होते हैं:

Type Declaration Instruction

ये वे Instructions होते जिनका प्रयोग करके हम विभिन्न प्रकार के Data को Computer की Memory में Store करने के लिए Memory Reserve करते हैं। हम जिस किसी भी Data को Program में Process करना चाहते हैं, उस Data को Store करने के लिए हमें Memory की जरूरत होती है, जहां उन Process किए जाने वाले Data को Hold करके रखना होता है।

Required Data के आधार पर हमें Memory में कुछ जगह Reserve करने के लिए जिन Instructions का प्रयोग करना होता है, उन्हें Type Declaration Instructions कहते हैं। इन Instructions का प्रयोग करके हम विभिन्न प्रकार के Variables Declare करते हैं।

एक “C” Program में हम कई तरह से Variables Create कर सकते हैं। Variables Declare करते समय ही हम उन Variables को Data Initialize कर सकते हैं। जैसे:

        int i = 19, j = 23 * 3/2-1;

जब हम किसी Variable को Create करते समय ही उसमें कोई एक निश्चित मान Initialize कर देते हैं, तो इस प्रक्रिया को Implicit Initialization कहते हैं। उदाहरण के लिए उपरोक्त Instruction में Variable i को Declare करते समय ही उसमें मान 19 को Initialize कर दिया गया है, जो कि Implicit Initialization का उदाहरण है।

जब हम किसी Variable को Declare करते समय उसमें किसी प्रकार की Calculation से प्राप्त मान को Initialize करते हैं, तो इस प्रक्रिया को Explicit या Dynamic Initialization कहते हैं। उदाहरण के लिए उपरोक्त Statement में Variable j को Create करते समय उसमें जो मान Initialize किया जा रहा है, वह मान एक Calculation से Generate हो रहा है, इसलिए ये एक Explicit या Dynamic Initialization का उदाहरण है।

हम किसी Variable को Create करने के बाद यदि कोई दूसरा Variable Create करते हैं, तो उस दूसरे Variable में पहले Variable के मान को भी Initialize कर सकते हैं। जैसे:

        int i = 19, j = i;

इस Statement में हमने जो मान Variable i में Store किया है, वही मान हमने Variable j में भी Store किया है। लेकिन यदि हम इस Declaration के क्रम को निम्नानुसार Change कर दें:

        int j = i, i = 19;

तो Compiler हमें निम्नानुसार Error प्रदान करता है:

        Error:  Undefined symbol ‘i’

        Error:  Multiple declaration for ‘i’

ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि “C” का Compiler हर Instruction को Up to Down Left to Right Execute करता है। इस स्थिति में Compiler सबसे पहले int j = i; Instruction को Execute करता है।

इस Instruction के आधार पर Compiler जब Variable j के मान में Variable i का मान Initialize करने के लिए Variable i की Memory Location को खोजता है, तो उसे ऐसा कोई Memory Location प्राप्त नहीं होता है, जिसका नाम i है, क्योंकि Compiler ने अभी तक Variable i के लिए Memory में किसी Location को Reserve ही नहीं किया है और Compiler जब किसी ऐसे Variable को Memory में खोजता है, जिसे उसने किसी Memory Block के साथ Associate करके Define ही नहीं किया है, तो वह “Undefined symbol” का Error Message Generate करता है।

Compiler हमें दूसरी Error इसलिए Display करता है, क्योंकि Compiler जिस Variable i को पहले Memory में खोज चुका होता है, उसी नाम का Variable हम बाद में Define करने की कोशिश करते हैं। इस स्थिति में पहले Instruction के लिए तो Compiler ये समझता है, कि हमने variable i को Define नहीं किया है, जबकि दूसरे Instruction के लिए Compiler ये सोंचता है कि हम एक ही नाम के एक से ज्‍यादा Variables Define करने की कोशिश कर रहे हैं।

इस तरह से एक Misplaced Instruction एक से ज्‍यादा प्रकार की Errors को Generate कर रहा है। जब किसी Program में कोई एक गलत Instruction एक से ज्‍यादा प्रकार की Errors को Generate करने में सक्षम होता है, तो इस प्रकार के Error Instruction को “Error Generator Source Instruction” कहा जाता है।

कई बार हमें ऐसी जरूरत पडती है कि एक ही मान को एक से ज्‍यादा Variables में Assign या Initialize करना होता है। इस प्रकार की जरूरत को हम निम्नानुसार पूरा कर सकते हैं:

        int x, y, z;

        x = y = z = 100;

लेकिन यदि इन दोनों Instructions को हम एक Instruction के रूप में निम्नानुसार Use करें:

        int x = y = z = 100;

तो ये एक गलत Instruction होगा और हमें फिर से “Undefined Symbol” की Error प्राप्त होगी। क्योंकि यहां फिर से हम उस Variable y का मान Variable x में Initialize करने की कोशिश कर रहे हैं, जिसे अभी तक Memory Allot नहीं किया गया है।

  • Arithmetical Instructions

  • Control Instructions

Increment Decrement in C Language
Bitwise AND Operator in C Language

******

ये पोस्‍ट Useful लगा हो, तो Like कर दीजिए।

C Programming Language in Hindi - BccFalna.com ये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook  C Programming Language in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

C Programming Language in Hindi | Page: 477 + 265 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

Download All Hindi EBooks

सभी हिन्दी EBooks C, C++, Java, C#, ASP.NET, Oracle, Data Structure, VB6, PHP, HTML5, JavaScript, jQuery, WordPress, etc... के DOWNLOAD LINKS प्राप्‍त करें, अपने EMail पर।

Register करके Login करें। इस Popup से छुटकारा पाएें।