How Weak Entity and Strong Entity in DBMS Affects Database Design?

Oracle 8i/9i SQL/PLSQL in Hindiये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook Oracle 8i/9i SQL/PLSQL in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

Oracle 8i/9i SQL/PLSQL in Hindi | Page: 587 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

Weak Entity and Strong Entity in DBMS: हमने विभिन्न Relationships को Discuss करते समय Relationship को “Zero” Instance से भी Related बताया है, जो इस बात को Indicate करता है कि आपसी Relationship में Specify किए गए Entities के किसी Instances का Relationship में Participate करना Optional है।

उदाहरण के लिए यदि हम Music Store Database के सन्दर्भ में इस बात को समझें, तो एक Customer की Information को उस समय भी Database में Store किया जा सकता है, जबकि उसने किसी Item के लिए कोई Order नहीं किया होता है। इस स्थिति में एक Customer Entity का कोई Instance Item Entity के किसी भी Instance से Related नहीं होता है या दूसरे शब्दों में कहें तो एक Customer Entity का कोई Instance Item Entity के Zero Instance से Related होता है।

हालांकि एक Customer जब कोई Order Place नहीं करता है, तब भी उस Customer की Database में Entry की जा सकती है, लेकिन यदि हम इस Concept को Reverse Order में लें, तो एसा सम्भव नहीं हो सकता। यानी हर Order का किसी एक Customer से Related होना जरूरी होता है। बिना किसी Customer के Order दिए हुए, Music Store Database में एक Order Place ही नहीं हो सकता, क्योंकि किसी भी Order को Place करने के लिए एक Customer जरूर होना चाहिए।

यदि हम इस Discussion के आधार पर समझें तो यहां Order एक Weak Entity है, क्योंकि ये एक एसा Entity है, जिसे Database में तब तक Store नहीं किया जा सकता है, जब तक कि उस Order Instance से Related कोई दूसरा Entity Instance उस Database में Present ना हो और उस Order से Related ना हो।

Customer Entity का एक Instance Zero, One या More Orders से Related हो सकता है। फिर भी एक Order का केवल एक और सिर्फ एक ही Customer Entity Instance से Related होना जरूरी होता है। Weak Entity के लिए Zero Option Available नहीं होता है। इस स्थिति में Customer व Order के बीच की Relationship एक जरूरी यानी Mandatory या Compulsory Relationship है, जिसे Database को ठीक से Manage करने के लिए Database में परिभाषित करना जरूरी होता है।

किसी Database की Consistency व Integrity को Maintain करने के लिए उसके सभी Weak Entities व उस Weak Entity से Associated Mandatory Relationship Entity को Identify करना काफी महत्वपूर्ण होता है। इनका Database पर आपसी प्रभाव जानने के लिए मानलो कि हम एक एसा Order Database में Store करते हैं, जिससे Belonged  Customer का पता नहीं हैं। इस स्थिति में हम उस Order में Specify किए गए Items को कभी भी किसी Customer तक Ship नहीं कर सकते हैं, क्योंकि उस Order में उस Customer की जानकारी ही नहीं होती है, जिसे उस Order के Items Ship करने हैं।

इसी Concept के अनुसार हम Order व Order Lines के बीच की Relationship को भी One To Many के Relationship के रूप में Define करते हैं, क्योंकि हम नहीं चाहते हैं कि बिना किसी Order से Related हुए कोई Order Line Database में Store हो। Order Line किसी Order पर स्थित किसी Specific Item को Refer करता है। यानी एक Order Line तब तक Meaningless होता है, जब तक कि हम ये नहीं जानते हैं कि वह Order Line किस Order से Belong करता है।

इसके बजाय हम Music Store पर उपलब्ध किसी भी Item को Database में Store कर सकते हैं, जबकि हमें ये जानने की जरूरत नहीं होती है कि उस Item को किस Supplier ने भेजा है, जबकि हम यहां पर ये मान रहे हैं कि हर Item किसी एक Supplier से आता है। इस स्थिति में Supplier व Item के बीच वास्तव में Zero To Many की Relationship हो जाती है। (Weak Entity and Strong Entity in DBMS)

Only 3 Different Types of Relationships in DBMS are possible.
How to Define Relationship Set in DBMS?

Oracle 8i/9i SQL/PLSQL in Hindiये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook Oracle 8i/9i SQL/PLSQL in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

Oracle 8i/9i SQL/PLSQL in Hindi | Page: 587 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

Download All Hindi EBooks

सभी हिन्दी EBooks C, C++, Java, C#, ASP.NET, Oracle, Data Structure, VB6, PHP, HTML5, JavaScript, jQuery, WordPress, etc... के DOWNLOAD LINKS प्राप्‍त करें, अपने EMail पर।

Register करके Login करें। इस Popup से छुटकारा पाएें।