Algorithm and Flowchart

C Programming Language in Hindi - BccFalna.com ये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook  C Programming Language in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

C Programming Language in Hindi | Page: 477 + 265 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

What is Algorithm and Flowchartहम हमारे दैनिक जीवन में जिस किसी काम को भी करते हैं, उस काम को Problem कह सकते हैं और हर Problem को Solve करने का एक निश्चित क्रम होता है और इस निश्चित क्रम के अन्तर्गत हमें विभिन्न प्रकार के Steps Use करने होते हैं। उदाहरण के लिए मानलो कि हमें किसी को Phone करना है। ये भी एक तरह की समस्या ही है क्योंकि हमें कुछ करना है। अब Phone करने के लिए हमें निम्न काम करने होते हैं:

  • सबसे पहले हम Phone को इस बात के लिए Check करेंगे, कि Phone चालू है या नहीं। यानी Dial Tone आ रही है या नहीं।
  • यदि Dial Tone आ रही है, तो हमें उस व्यक्ति का Phone Number Dial करना होता है, जिससे हम बात करना चाहते हैं।
  • Phone Number Dial करने के बाद हमें Target व्यक्ति के Phone पर Bell जाने का इन्तजार करना होगा।
  • यदि Bell जाती है और Target व्यक्ति Phone Attend करता है, तो  बात हो जाएगी।

इन Steps के समूह से हम समझ सकते हैं कि हमें Phone करने जैसी मामूली सी समस्या को सुलझाने के लिए भी एक निश्चित क्रम का पालन करना जरूरी होता है, साथ ही सभी Steps को Follow करना भी जरूरी होता है। न ही हम इन Steps के क्रम को Change कर सकते हैं और न ही हम किसी Step को छोड सकते हैं। यदि हम इन दोनों में से किसी भी एक बात को Ignore करते हैं, तो हम Target व्यक्ति से बात नहीं कर सकते हैं, यानी Problem का Solution प्राप्त नहीं कर सकते हैं। इस उदाहरण का सारांश ये है कि:

किसी भी समस्या का एक निश्चित व उचित समाधान प्राप्त करने के लिए हमें उस समस्या को विभिन्न Steps के एक समूह के रूप में Define करना होता है, जो कि एक निश्चित क्रम में होते हैं। Follow किए जाने वाले Steps के समूह व उसके सुव्‍यवस्थित क्रम को यदि सरल भाषा में लिख लिया जाए, तो हमें जो लिखित Description प्राप्‍त होता है, उसे ही Algorithm कहा जाता है।

दूसरे शब्दों में कहें तो किसी भी समस्या के एक निश्चित समाधान को प्राप्त करने के लिये अनुक्रमिक व चरणबद्ध रूप में अपनाई जाने वाली लिखित प्रक्रिया को ही एल्गोरिद्‌म कहते हैं।

इसे समझने के लिये हम एक और Example देखते है, मानलो कि हम दो संख्‍याओं A व B को जोड कर उसका परिणाम C में प्राप्त करना चाहते हैं और फिर C के मान को Screen पर Display करना चाहते हैं। यानी हमें C = A + B करना है। इस काम को पूरा करने के लिए या इस Problem को Solve करने के लिए हमें निम्नानुसार क्रम का पालन करना होता हैः

चरण 1 : प्रक्रिया का प्रारम्भ।
चरण 2 : वेरिएबल A का मान पढना।
चरण 3 : वेरिएबल B का मान पढना।
चरण 4 : A B के मान का योग निकालना ।
चरण 5 : मान A B के योगफल को Variable C के स्थान पर रखना।
चरण 6 : C के मान को प्रिंट करना।
चरण 7 : प्रक्रिया का अंत करना।

हम देख सकते हैं कि दो संख्‍याओं को जोडने के लिए हमें उपरोक्‍तानुसार विभिन्‍न Steps को उसी क्रम में Follow करना होता है, जिसमें दर्शाया गया है। यदि हम उपरोक्‍त सभी Steps को Follow करते हैं और Exactly उसी क्रम में करते हैं, जिसमें इन्‍हें उपरोक्‍तानुसार लिखा गया है, तो हमें निश्चित रूप से दो संख्‍याओं का योग प्राप्‍त होता है। इसलिए उपरोक्‍त लिखित Description वास्‍तव में दो संख्‍याओं को जोडने का एक Well Defined Working Algorithm है।

जिस तरह से एक Algorithm किसी Problem को Solve करने का लिखित Description होता है। ठीक उसी तरह से Flowchart किसी Problem को Solve करने का एक चित्रित Description होता है। यानी यदि हम दो संख्‍याओं को जोडने के लिए एक Flowchart Create करना चाहें, तो हमारा Flowchart कुछ निम्‍नानुसार होगा-

FlowChart of Addition of 2 Numbers.

FlowChart of Addition of 2 Numbers

हम समझ सकते हैं कि ये Flowchart एक प्रकार से हमारे पिछले Algorithm को ही चि‍त्र के रूप में Represent कर रहा है लेकिन इस चित्र द्वारा हम ये भी जान सकते हैं कि हमारा Program किस प्रकार से Flow हो रहा है।

इस प्रकार से Computer द्वारा किसी भी  प्रकार के Problem को Solve करने के लिए हम Algorithm व Flowcharts को उपयोग में ले सकते हैं। सामान्‍यत: किसी Problem को बेहतर तरीके से Solve करने के लिए उस समस्‍या का Algorithm व Flowchart दोनों को Combined रूप से उपयोग में लिया जाता है, ताकि किसी भी तरह की गलती होने की सम्‍भावना न रहे।

यदि आपको Algorithms व Flowcharts के बारे में बिल्‍कुल भी जानकारी नहीं है, तो उस स्थिति में C Programming Language in Hindi पुस्‍तक आपके लिए काफी उपयोगी हो सकती है क्‍योंकि इस पुस्‍तक में कई Real Life Problems को Example के रूप में उपयोग में लेते हुए उनका Algorithm व Flowchart बनाने के बाद उन Algorithm व Flowcharts के आधार पर Program Codes को लिखा गया है, जिससे न केवल आपको ये समझ में आता है कि किसी Real World Problem को Solve  करने के लिए किस प्रकार से Algorithm व Flowchart बनाया जाता है किया जाता है, बल्कि आपको इस बात की भी जानकारी होती है कि इन Algorithms व Flowcharts के आधार पर Program कैसे Develop किया जाता है। (What is Algorithm and Flowchart)

Problem = Doing Something
Header Files in C - Why we need it?

******

ये पोस्‍ट Useful लगा हो, तो Like कर दीजिए।

C Programming Language in Hindi - BccFalna.com ये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook  C Programming Language in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

C Programming Language in Hindi | Page: 477 + 265 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

Download All Hindi EBooks

सभी हिन्दी EBooks C, C++, Java, C#, ASP.NET, Oracle, Data Structure, VB6, PHP, HTML5, JavaScript, jQuery, WordPress, etc... के DOWNLOAD LINKS प्राप्‍त करें, अपने EMail पर।

Register करके Login करें। इस Popup से छुटकारा पाएें।