What is Integer Literal?

C Programming Language in Hindi - BccFalna.com ये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook  C Programming Language in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

C Programming Language in Hindi | Page: 477 + 265 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

What is Integer Literal: जब हम Computer में किसी Program को Develop करते हैं, तब Program में हमें कई ऐसे Data को भी Store व Access करना होता है, जिनका मान हमेंशा स्थिर रहता है। इस प्रकार के Data (Value or a Set of Values) को Literal या Constant कहते हैं। उदाहरण के लिए

  1. एक Week में हमेंशा दिन होते हैं।
  2. PI का मान हमेंशा 22/7 होता है।
  3. एक साल में हमेंशा 12 महीने होते हैं।
  4. एक दिन में हमेंशा 24 Hours होते हैं।
  5. एक Hour में हमेंशा 60 मिनट होते हैं।

प्रोग्राम के Execution के दौरान Literals के मान में कोई परिवर्तन नहीं होता है। इनका मान सम्पूर्ण प्रोग्राम में स्थिर रहता है। चूंकि Literals हमेंशा स्थिर Data को Represent करते हैं, इसलिए इन मानों को Store करने के लिए Memory में Space Reserve करते समय ही इन मानों को Memory में Store कर दिया जाता है और ऐसी व्यवस्था कर दी जाती है, ताकि इनका मान पूरे Program में किसी भी स्थिति में Change ना किया जा सके। C Language में Literals या Constants को तीन भागों में बांटा गया हैः

Integer Constant

इन्हें पूर्णांक संख्‍याऐं भी कहते हैं, क्योंकि इनमें दशमलव वाली संख्‍याऐं नहीं होती हैं। इस प्रकार के Constant में +/- चिन्ह हो सकते हैं। जिस अंक पर कोई चिन्ह न हो वह संख्‍या Positive होती हैं। जैसे 124, 3223, 545, 23 आदि Positive Integer Constant के उदाहरण हैं। Programming के दौरान बडी संख्‍याओं को Represent करने के लिए संख्‍याओं के बीच कोमा का प्रयोग नही किया जाता है। जैसे 1233,33,000 एक गलत स्थिरांक है। Integer Constants को भी मुख्‍यतः तीन भागों में बांटा जा सकता हैः

Decimal Constant

जब हम Computer में किसी संख्‍या को 0 से 9 तक की Digits का प्रयोग करके Represent करते हैं, तब हम इस प्रकार के Constant को Decimal Integer Constant कहते हैं। इस तरीके को Number की Decimal Form कहा जाता है। हम हमारे दैनिक जीवन में संख्‍याओं को इसी रूप में उपयोग में लेते हैं। जब हम किसी Identifier में इस प्रकार के Literal को Assign करना चाहते हैं, तब हमें निम्नानुसार Syntax लिखना होता हैः

const int speed = 120;

const Keyword का प्रयोग इसलिए किया जाता है, क्योंकि const Keyword का प्रयोग करने पर Create होने वाला Identifier Constant Identifier बन जाता है, जबकि const का प्रयोग ना करने पर बनने वाला Identifier Variable Identifier होता है। इस Statement में 120 एक Decimal Literal है।

Octal Constant

जब हम Computer में किसी संख्‍या को 0 से 7 तक की Digits का प्रयोग करके Represent करते हैं, तब हम इस प्रकार के Constant को Octal Integer Constant कहते हैं। इस तरीके को Number की Octal Form कहा जाता है और इस तरीके का प्रयोग केवल Electronic Devices जैसे कि Calculator, VCD Player, DVD Player, Remote Control आदि में Number को Represent करने के लिए किया जाता है।

जब हम किसी Number को इस तरीके का प्रयोग करके Represent करते हैं, तब इस मान के Number से पहले English Alphabet के एक Character का प्रयोग किया जाता है, जो बताता है कि Represent होने वाली संख्‍या Octal Form में है। हम हमारे दैनिक जीवन में इस तरीके का प्रयोग करके किसी Number को Represent नहीं करते हैं। जब हम किसी Identifier में इस प्रकार के Literal को Assign करना चाहते हैं, तब हमें निम्नानुसार Syntax लिखना होता हैः

const int speed 0120;

चूंकि जब हम किसी मान को Octal Value के रूप में Store या Access करना चाहते हैं, तब हमें उस मान के आगे उपसर्ग के रूप में (Zero) Add करना जरूरी होता है। इसीलिए हमने मान 120 से पहले Prefix के रूप में (Zero) का प्रयोग किया है। इस Statement में0120 एक Octal Literal है।

Hexadecimal

जब हम Computer में किसी संख्‍या को 0 से 9 तक की Digits English के a/A, b/B, c/C, d/D, e/E या f/F Characters का प्रयोग करके Represent करते हैं, तब हम इस प्रकार के Constant को Hexadecimal Integer Constant कहते हैं। इस तरीके को Number की Hexadecimal Form कहा जाता है और इस तरीके का प्रयोग Computer जैसी बडी Digital Electronic Devices में संख्‍याओं को Represent करने के लिए किया जाता है।

जब हम किसी Number को इस तरीके का प्रयोग करके Represent करते हैं, तब इस मान के Number से पहले 0X/0x का प्रयोग किया जाता है, जो बताता है कि Represent होने वाली संख्‍या Hexadecimal Form में है। हम हमारे दैनिक जीवन में इस तरीके का प्रयोग करके भी किसी Number को Represent नहीं करते हैं। जब हम किसी Identifier में इस प्रकार के Literal को Assign करना चाहते हैं, तब हमें निम्नानुसार Syntax लिखना होता हैः

const int speed 0x120; or
const int speed 0X120;

चूंकि जब हम किसी मान को Hexadecimal Value के रूप में Store या Access करना चाहते हैं, तब हमें उस मान के आगे उपसर्ग के रूप में 0x (Zero with x/X) Add करना जरूरी होता है। इसीलिए हमने मान 120 से पहले Prefix के रूप में 0x (Zero with x/X) का प्रयोग किया है। इस Statement में 0120 एक Hexadecimal Literal है।

Rules for Representing Integer Constants in a PROGRAM

किसी Program में जब भी हम किसी Integer Constant मान को Represent करते हैं, तब हमें कुछ नियमों का ध्यान रखना होता है। किसी Integer Constant को Represent करने के नियम निम्नानुसार हैं:

  • किसी भी Integer Constant में कम से कम एक Digit को होना जरूरी होता है।
  • किसी Integer Constant में कोई दसमलव नहीं होता है।
  • Integer Constant Positive या Negative किसी भी प्रकार का हो सकता है।
  • यदि किसी Integer Constant के साथ जब किसी चिन्ह का प्रयोग नहीं किया गया होता है, तब By Default वह Integer एक Positive Integer Constant होता है।
  • किसी Integer Constant में अंकों को अलग करने के लिए Blank Space या Comma का प्रयोग नहीं किया जा सकता है।

इन नियमों को ध्यान में रखते हुए ही हमें हमारे Program में किसी Integer Constant को Represent करना होता है। इनमें से किसी भी नियम को Avoid करने पर “C” का Compiler Compile Time Error Generate करता है।

जब किसी Program को Compile करते समय Source Code में की गई किसी Typing Mistake के कारण कोई Error Generate होती है, तो इस Error को Compile Time Error कहते हैं।

हम जिस किसी भी रूप में जो भी स्थिर Integer मान Represent करते हैं, वह मान Integer Literalया Integer Constant कहलाता है। उदाहरण के लिए आगे दिए जा रहे सभी मान एक Integer Constant मान हैं:

Decimal Form

Octal Form

Hexadecimal Form

123

0123

0×124

+2568

+02568

0×5698

-7812

-01235

0x-4589

-5698

-124589

0x-7895

(What is Integer Literal)

When Use Preprocessor Directives?
What is Separators or Punctuation?

******

ये पोस्‍ट Useful लगा हो, तो Like कर दीजिए।

C Programming Language in Hindi - BccFalna.com ये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook  C Programming Language in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

C Programming Language in Hindi | Page: 477 + 265 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

Download All Hindi EBooks

सभी हिन्दी EBooks C, C++, Java, C#, ASP.NET, Oracle, Data Structure, VB6, PHP, HTML5, JavaScript, jQuery, WordPress, etc... के DOWNLOAD LINKS प्राप्‍त करें, अपने EMail पर।

Register करके Login करें। इस Popup से छुटकारा पाएें।