What are Operators?

C Programming Language in Hindi - BccFalna.com ये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook  C Programming Language in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

C Programming Language in Hindi | Page: 477 + 265 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

What is Operators in C: किसी भी प्रोग्रामिंग भाषा में विभिन्न प्रकार के Results प्राप्त करने के लिए विभिन्न प्रकार के Mathematical व Logical Calculations करने पडते हैं। इन विभिन्न प्रकार के Mathematical व Logical Calculations को Perform करने के लिये कुछ Special Symbols का प्रयोग किया जाता है। ये Special Symbols कम्प्यूटर को विभिन्न प्रकार के Calculations करने के लिए निर्देशित करते हैं। विभिन्न प्रकार के Calculations को Perform करने के लिए Computer को निर्देशित करने वाले चिन्हों को Operators कहा जाता है। साथ ही Data को Refer करने वाले जिन Identifiers के साथ ये प्रक्रिया करते हैं, उन Identifiers को इन Operators का Operand कहा जाता है।

किसी भी Programming Language मे Operators दो तरह के होते हैं:

Unary Operator

कुछ Operators ऐसे होते हैं, जिन्हें कोई Operation Perform करने के लिए केवल एक Operand की जरूरत होती है। ऐसे Operators, Unary Operator कहलाते हैं। जैसे Minus ( – ) एक Unary Operator है। जिस किसी भी संख्‍या के साथ ये चिन्ह लगा दिया जाता है, उस संख्‍या का मान बदल जाता है। जैसे 6 के साथ – चिन्ह लगा देने से संख्‍या -6 हो जाती है। C Language में Support किए गए Unary Operators निम्नानुसार हैं।

& Address Operator
* Indirection Operator
+ Unary Plus
Unary Minus
~ Bit wise Operator
++ Unary Increment Operator
Unary Decrement Operator
! Logical Operator

Binary Operators

जिन Operators को काम करने के लिये दो Operands की जरूरत होती है, उन्हें Binary Operators कहते हैं। जैसे 2 + 3 को जोडने के लिये Addition Operator (+) को दो Operands की जरूरत होती है, अतः Plus एक Binary Operator भी है।

C Language में विभिन्न प्रकार के Operators को उनके काम के आधार पर कई Categories में बांटा गया है। जैसे

इन विभिन्‍न प्रकार के Operators को विभिन्‍न प्रकार की Calculations Perform करते हुए विभिन्‍न प्रकार की Programming Requirements को पूरा करने के लिए उपयोग में लिया जाता है। उदाहरण के लिए यदि हमें दो संख्‍याओं को जोडना हो, तो हम Arithmetical Operator को उपयोग में लेते हैं, जबकि यदि हमें दो संख्‍याओं में से बडी संख्‍या को प्राप्‍त करना हो तो हमें Relational Operators को Use करना पडता है।

एक अच्‍छा Programmer बनने के लिए Operators को अच्‍छी तरह से समझना व उपयोग मे लेने की कला सीखना बहुत जरूरी होता है। क्‍योंकि बिना Operators को ठीक प्रकार से समझे हुए किसी भी Programming Construct को उपयुक्‍त तरीके से उपयोग में लिया जाना सम्‍भव नहीं होता।

उदाहरण के लिए यदि आपको RelationalLogical Operators के बारे में उपयुक्‍त जानकारी न हो, तो आप if, if…else, elseif जैसे Conditional Statements को ठीक से उपयोग में नहीं ले सकते, क्‍योंकि ये Statements पूरी तरह से इन Operators द्वारा Return किए जाने वाले मानों पर ही आधारित होते हैं व अपना काम करते हैं।

इसलिए यदि आप विभिन्‍न प्रकार के Operators के बारे में विस्‍तार से जानना चाहते हैं व विभिन्‍न प्रकार के सरल Example Programs का प्रयोग करते हुए इन्‍हें आसानी से सीखना चाहते हैं, तो C Programming Language in Hindi पुस्‍तक आपके लिए काफी उपयोगी साबित हो सकती है। (What is Operators in C)

What is Character Literal?
Preprocessor Directives in C Language

C Programming Language in Hindi - BccFalna.com ये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook  C Programming Language in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

C Programming Language in Hindi | Page: 477 + 265 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

Download All Hindi EBooks

सभी हिन्दी EBooks C, C++, Java, C#, ASP.NET, Oracle, Data Structure, VB6, PHP, HTML5, JavaScript, jQuery, WordPress, etc... के DOWNLOAD LINKS प्राप्‍त करें, अपने EMail पर।

Register करके Login करें। इस Popup से छुटकारा पाएें।