WordPress Custom Post Type, Post and Page

WordPress in Hindi - BccFalna.comये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook WordPress in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

WordPress in Hindi | Page: 420 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

WordPress Custom Post Type पिछले Chapter में हमने WordPress Admin के जितने भी Panels के बारे में Discuss किया, वे सभी पूरी तरह से हमारे WordPress System पर आधारित Blogging या CMS (Content Management System) को Manage करने से सम्बंधित थे, ताकि हम हमारी WordPress Website/Blog को बेहतर तरीके से Manage कर सकें, विभिन्न प्रकार की Look and Feel सम्बंधित Settings को Customize व Control कर सकें तथा अपनी जरूरत के अनुसार Extra Facilities प्राप्त करने के लिए WordPress System को Plugins व Tools के माध्‍यम से Extend कर सकें।

जबकि अब हम इस Chapter में जिन Panels के बारे में Discuss करेंगे, वे पूरी तरह से WordPress System का प्रयोग करते हुए Content Develop करने से सम्बंधित हैं, जो कि किसी भी Content आधारित Website/Blog का मुख्‍य आधार होते हैं और Online/Offline Income Generate करने का सारा दारोमदार इन्हीं पर होता है।

WordPress – The Page, Post and Custom Post Type

WordPress में हम मूल रूप से दो तरह के Contents Create कर सकते हैं, जिन्हें Page या Post के नाम से जाना जाता है। हालांकि ये दोनों प्रकार के Contents हमें WordPress System द्वारा Default रूप से Create करने के लिए प्राप्त होते हैं, लेकिन हम WordPress System में किसी Specific प्रकार के Contents के आधार पर अन्‍य प्रकार के Contents भी Create कर सकते हैं, जिन्हें Custom Post Types के नाम से जाना जाता है।

इन्हीं Custom Post Types की वजह से ही हम WordPress को केवल Blogging Platform या CMS की तरह ही नहीं बल्कि एक Web Application Development Framework की तरह भी उपयोग में ले सकते हैं। यानी हम हमारी जरूरत के अनुसार किसी भी प्रकार का Web Application या Website Develop करने के लिए WordPress Framework को बहुत ही आसानी से उपयोग में ले सकते हैं।

उदाहरण के लिए WordPress System के लिए कई ऐसे Plugins हैं, जिनका प्रयोग करके हम हमारे WordPress System पर Subscribe करने वाले Users अथवा Comment करने वाले Users को Personalized Emails यानी Newsletters Send कर सकते हैं और इन Newsletters के Contents पूरी तरह से एक WordPress Post की तरह ही होते हैं, लेकिन ये Posts Newsletter की तरह केवल Registered Subscribers को ही Email के रूप में प्राप्त होते हैं और Registered Users भी इन Newsletters को केवल Email के माध्‍यम से ही पढ सकते हैं, जबकि हर Newsletter एक प्रकार का Private Post ही होता है, जिसे उस Website पर आने वाला कोई भी Visitor Directly Visit नहीं सकता।

इसी तरह से WordPress Framework का प्रयोग करते हुए हम विभिन्न प्रकार के Plugins Use कर सकते हैं, जो हमारे WordPress Framework को एक Product Shop की तरह Establish कर देता है। परिणामस्वरूप हमारे WordPress System का हर Page एक Product के बारे में Discuss करता है, जिस पर विभिन्न Users अपने Comments लिख सकते हैं, अपना Review दे सकते हैं या उस Product को खरीद सकते हैं। जबकि हर Product से सम्बंधित Information एक प्रकार के Product Type को Represent करता है और Product Type का Article होता है।

यानी अलग-अलग प्रकार के Content के लिए हम अलग-अलग प्रकार का Article Create कर सकते हैं और हर अलग प्रकार के Article को उसके Content Type के आधार पर Differentiate करते हुए अलग प्रकार का Custom Post Type Create कर सकते हैं, जो कि WordPress Framework में जितना आसानी से सम्भव है, उतना आसानी से किसी भी अन्‍य Framework में सम्भव नहीं है।

अलग-अलग प्रकार के Content के लिए हम अलग-अलग प्रकार के Plugins का प्रयोग करते हुए अलग-अलग प्रकार के Post Types Create कर सकते हैं, लेकिन फिर भी WordPress हमें Default रूप से PagePost नाम के दो प्रकार के Contents को Handle करने के लिए Default रूप से WordPress Admin Panels के माध्‍यम से विभिन्न जरूरी सुविधाऐं Provide करता है।

PagePost Create करने के लिए हमें प्राप्त होने वाला Editor एक समान ही होता है, लेकिन अन्तर केवल इन दोनों प्रकार के Contents में होता है और दोनों प्रकार के Contents के बीच मुख्‍य अन्तर भी केवल यही है कि Posts हमेंशा Time Dependent Contents को Represent करते हैं, जबकि Page हमेंशा Static Content को Represent करते हैं।यं

यानी जब हमें अपनी Website/Blog में “About Us” या “Contact Us” Webpage की तरह का कोई Page Create करना होता है, जिसका Content कभी&कभार ही Change होता है, तो इस प्रकार का Content Create करने के लिए WordPress हमें Page Create करने की सुविधा देता है।

जबकि Next Prime Minister बनने की सम्भावना सबसे ज्‍यादा किस की है, इस विषय में Discuss करने के लिए हमें Post बनाना होता है क्योंकि इस Content का औचित्; तब तक के लिए ही रहेगा, जब तक कि नया Prime Minister बन नहीं जाता। जैसे ही नया Prime Minister Declare हो जाएगा, इस Article का सारा Content, सारा Discussion निरर्थक हो जाएगा।यं

यानी जो Content Time-Bounded होता है और एक समय के बाद जिस Content का पूरा औचित्; समाप्त हो सकता है, उस Content को हमेंशा Post की तरह Create किया जाता है, जबकि जिस Content पर समय के बदलने का कोई प्रभाव नहीं पडता, उस Content को हमेंशा Page की तरह Create किया जाना बेहतर होता है।

इसीलिए “About Us” या “Contact Us” Webpage पर लिखे जाने वाले Content ऐसे Content होते हैं, जो कभी Change नहीं होते या बहुत कम बार Change होते हैं, इसलिए इन Contents को हमेंशा Page Content की तरह Create किया जाता है।

WordPress हमें PagePost दोनों Create करने के लिए दो अलग Panels Provide करता है, जहां नया Post Create करने के लिए हमें “Add New” Menu Option को Click करना होता है, जबकि सभी Page/Post की List देखने के लिए हमें Top Level Panel Option या “All Posts / All Pages” Menu Option को Click करना होता है।यं

यानी जब हम Posts Panel पर Click करते हैं, तो हम वास्तव में “All Posts” Menu Option पर Click कर रहे होते हैं, जिस पर हमें हमारे सभी Posts निम्न चित्रानुसार दिखाई देते हैं:

WordPress Custom Post Type, Post and Page - Hindi

WordPress Custom Post Type, Post and Page – Hindi

जबकि जब हम Pages Panel पर Click करते हैं, तो हम वास्तव में “All Pages” Menu Option पर Click कर रहे होते हैं, जिस पर हमें हमारे सभी Pages निम्न चित्रानुसार दिखाई देते हैं:

WordPress Custom Post Type, Post and Page - Hindi

WordPress Custom Post Type, Post and Page – Hindi

दोनों ही चित्रों द्वारा हम समझ सकते हैं कि इन दोनों Panel द्वारा हम हमारे Pages या Posts को Manage करने का काम कर सकते हैं। यानी हम इन्हीं Panels पर दिखाई देने वाले “Add New” Button को Click करके नया Page/Post Create कर सकते हैं, किसी पहले से Created Page/Post को Edit कर सकते हैं, View कर सकते हैं अथवा Trash कर सकते हैं, यानी Deletion के लिए Mark कर सकते हैं।

WordPress Tools - Menu Options

******

ये पोस्‍ट Useful लगा हो, तो Like कर दीजिए।

WordPress in Hindi - BccFalna.comये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook WordPress in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

WordPress in Hindi | Page: 420 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

Download All Hindi EBooks

सभी हिन्दी EBooks C, C++, Java, C#, ASP.NET, Oracle, Data Structure, VB6, PHP, HTML5, JavaScript, jQuery, WordPress, etc... के DOWNLOAD LINKS प्राप्‍त करें, अपने EMail पर।

Register करके Login करें। इस Popup से छुटकारा पाएें।