WordPress Database Structure

WordPress in Hindi - BccFalna.com ये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook Advance WordPress in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी है, तो निश्चित रूप से ये EBook भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी।

Advance WordPress in Hindi | Page: 835 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

WordPress Database Structure WordPress में मूल रूप से 11 Tables ही हैं, जिनके आधार पर पूरा WordPress System काम करता है। ये Tables निम्नानुसार हैं:

wp_comments

WordPress में लिखे गए किसी भी Post या Page पर जब कोई User Feedback के रूप में कोई Comment लिखता है, तो वह Comment इसी Table में Store होता है। इस Table Structure के विभिन्न Fields निम्नानुसार होते हैं:

comment_ID

इस Field में Current Comment का Unique ID होता है।

comment_post_ID

इस Field में उस Post का Unique ID होता है, जिसके साथ Current Comment Attached है।

comment_author

इस Field में Current Comment के Author का नाम होता है।

comment_author_email

इस Field में Current Comment के Author का Email Address होता है।

comment_author_url

इस Field में Current Comment की Website / Blog या Profile का URL होता है।

comment_author_IP

इस Field में Current Comment करने वाले Author के Computer का Current IP Address होता है।

comment_date

इस Field में Current Comment के Publish होने का Date and Time Stored होता है।

comment_date_gmt

इस Field में Current Comment के Publish होने का GMT Date and Time Stored होता है।

comment_content

इस Field में Current Comment का मूल Content होता है।

comment_karma

इस Field में Stored Value का प्रयोग कुछ Plug-ins करते हैं। इसके अलावा इस Field के Data का कोई उपयोग नहीं है।

comment_approved

इस Field में Current Comment के Publish होने की Status को Represent किया जाता है। सामान्‍यत: इसमें निम्नानुसार कोई एक मान होता है:

0: यदि Administrator या Editor द्वारा Comment Approved न किया गया हो।

1: यदि Administrator या Editor द्वारा Comment Approved न किया गया हो।

spam: यदि Administrator या Editor द्वारा Comment को Spam Declare कर दिया गया हो।

comment_agent

इस Field में Comment करने वाले Commenter के Computer में Comment करते समय Use किए जाने वाले Web Browser यानी User Agent की जानकारी Store होती है।

comment_type

इस Field में Current Comment के Type की Information को Store किया जाता है। सामान्‍यत: इसमें निम्नानुसार कोई एक मान होता है:

comment: Current Comment एक Simple Comment है।

pingback: Current Comment एक Pingback Comment है। यानी किसी दूसरे User ने Current Web Page को फिर से Ping किया है।

trackback: Current Comment एक Trackback Comment है। यानी किसी दूसरे User ने Current Web Page के URL को अपने स्वयं की Site या Blog पर Link किया है।

comment_parent

जब Comments की Threading हो रही होती है, तब Current Comment, जिस Comment का Child होता है, उसका ID इस Field में Store होता है।

user_id

यदि किसी Registered User ने Comment किया है, तो उस Registered User का ID इस Field में Store होता है।

wp_commentsmeta

WordPress में लिखे गए किसी भी Post या Page पर जब कोई User Feedback के रूप में कोई Comment लिखता है, तो वह Comment से सम्बंधित विभिन्न प्रकार के Metadata इसी Table में Store होता है। इस Table Structure के विभिन्न Fields निम्नानुसार होते हैं:

meta_id

इस Field में Current Comment-Meta का Unique ID होता है। Comment-Meta वास्तव में किसी Comment के साथ Specified Extra Data होता है, जो Comment को Extra Content Provide करता है।

comment_id

इस Field में उस Comment का ID होता है, जिसके साथ Metadata को Attach किया गया होता है।

meta_key

इस Field में वह Meta Key होती है, जिसके आधार पर किसी Unique Data को किसी Particular Comment के लिए Identify करते हैं।

meta_value

इस Field में वह Meta Value होती है, जिसे meta_key के साथ Assign किया गया होता हैं।

इस Table के Data का प्रयोग मूल रूप से या तो WordPress Core द्वारा Internally किया जाता है या फिर जब हम हमारा स्वयं का Theme या Plugin Design करते हैं, तो Specific तरीके से Comment Meta के आधार पर Web Page Generate करने के लिए हम इन Metadata का प्रयोग कर सकते हैं।

wp_links

WordPress में Link Manager Section के माध्‍यम से जितने भी Links Add किए जाते हैं, वे सभी Links इसी Table में Store होते है। इस Table से सम्बंधित Core Features को WordPress के 3.5 Version से Remove कर दिया गया है, इसलिए इस Table विभिन्न Fields ds बारे में जानने की जरूरत नहीं है।

हालांकि कुछ Specific Type के Plug-ins द्वारा कुछ Specific Type की Requirements को पूरा करने के लिए इस Table को अभी भी Use किया जाता है।

wp_options

WordPress की इस Table में WordPress के Dashboard => Settings में Specify किए गए विभिन्न Options की Information Save होती है। इसके अलावा Plug-ins, Themes आदि से सम्बंधित Information को भी इसी Table में Save किया जाता है। इस Table Structure के विभिन्न Fields निम्नानुसार होते हैं:

option_id

इस Field में Current Option का Unique ID होता है।

option_name

इस Field में Current Option का Name होता है।

option_value

इस Field में Current Option का Value होता है।

autoload

इस Field में सामान्‍यत: “yes” होता है।

wp_posts

WordPress में जो भी Page, Post, Media Record व Revisions Create करते हैं, उन सभी के Data इसी Table में Store होते हैं और ज्यादातर परिस्थितियों में यही Table, पूरे WordPress Database की सबसे बडी Table होती है।

wp_posts Table में ही हमारी Web Site का सारा Content होता है, इसलिए अपनी Web Site के सारे Contents को Access करने के लिए हम इस Table को Use कर सकते हैं। इसी Table में हमारे सभी Posts, Pages, RevisionsAttachments Store होते हैं।

हालांकि Attachments इसी Table में Store होते हैं, लेकिन Actual Attachments इस Table में Store नहीं होते। क्योंकि Actual Attachments हमेंशा Standard File की तरह हमारे Web Server पर Physically Store होते हैं।

अपने WordPress Database की विभिन्न Tables पर विभिन्न प्रकार की Queries Fire करके Results देखने के लिए हम phpmyadmin Service को Use कर सकते हैं, जो कि हमें XAMPPWAMP Local Web Server पर भी प्राप्त होता है और Actual Web Host के CPanel द्वारा भी हम इसे Access कर सकते हैं।

wp_posts Table के विभिन्न Fields Self-Descriptive होते हैं, जो कि निम्नानुसार हैं:

ID

इस Field में Current Post का Unique ID होता है।

post_author

ये Field, Current Post के Author के रूप में Current Web Site पर Registered किसी User के ID को Store करता है।

post_date

ये Field, Current Post के Publish होने के Date and Time को Store करता है।

post_date_gmt

ये Field, Current Post के Publish होने के GMT Date and Time को Store करता है।

post_content

इस Field में Current Post का वह Content होता है, जिसे Author Create करता है।

post_title

इस Field में Current Post के Content का Title होता है।

post_excerpt

इस Field में Current Post का Excerpt होता है। यानी Post Create करते समय जहां पर हम <!– more –> Tag Specify करते हैं, वहां तक का Content होता है।

post_status

इस Field में Current Post का Status होता है, जिसमें String Value के रूप में निम्न में से कोई एक मान होता है:
  • publish: यदि Post/Page Publish कर दिया गया हो।
  • inherit: यदि Current Post/Page Revision हो।
  • pending: यदि Post/Page Administration या Editor द्वारा Review करने हेतु Pending हो।
  • private: यदि Post/Page Private हो, जिसे केवल Authorized Subscriber या User ही देख सकता हो।
  • future: यदि Post/Page को Future Date and Time पर Publish होने के लिए Set किया गया हो।
  • draft: यदि Post/Page Draft Mode में हो।
  • trash: यदि Post/Page को Delete करने के लिए Mark किया गया हो। इस Page/Post को फिर से Restore किया जा सकता है।

comment_status

इस Field में Current Post के साथ Attached Comments का Status होता है, जिसमें String Value के रूप में निम्न में से कोई एक मान होता है:
  • open: Current Post/Page पर कोई भी User Comment कर सकता है।
  • closed: Current Post/Page पर कोई भी User Comment नहीं कर सकता है।
  • registered_only: Current Post/Page पर केवल Registered Users ही Comment कर सकते हैं।

ping_status

इस Field में Current Post को Ping-Back या Track-Back करने से सम्बंधित Information होता है, जिसमें String Value के रूप में निम्न में से कोई एक मान होता है:
  • open: Current Post/Page पर कोई भी User Ping-Back/Track-Back कर सकता है।
  • closed: Current Post/Page पर कोई भी User Ping-Back/Track-Back नहीं कर सकता है।

post_password

यदि किसी Post/Page के साथ Password Set करके उसे Private Post बनाया गया हो, तो इस Field में Encrypted Form में वह Password होता है।

post_name

इस Field में Post/Page का Slug होता है, जो कि सामान्‍यत: Current Post/Page के URL के रूप में Use होता है।

to_ping

pinged

post_modified

ये Field, Current Page/Post के Modify होने के Date and Time को Store करता है।

post_modified_gmt

ये Field, Current Page/Post के Modify होने के GMT Date and Time को Store करता है।

post_content_filtered

post_parent

यदि हम Pages Create करते हैं और किसी Page के Under Child Page Create करते हैं, तो हर Child Page का एक Parent Page होता है। उस Parent Page का ID इस Field में Store होता है।

guid

हर Page/Post का एक Globally Unique Identifier होता है, जो कि हमारे Post/Page का Permalinks ही होता है। इसे GUID द्वारा Refer किया जाता है और इस ID को सामान्‍यत: Feed द्वारा Use किया जाता है।

menu_order

इस Field में हम किसी Numerical Value को Specify करके अपने Post/Page के क्रम को निश्चित कर सकते हैं।

post_type

इस Field में Post के Type से सम्बंधित Information होती है, जिसमें String Value के रूप में निम्न में से कोई एक मान होता है:
  • post: Current Post एक Blog Post है।
  • page: Current Post एक Blog Page है।
  • revisions: Current Post एक Blog Revision है।
  • attachment: Current Post एक Blog Attachment है।

इन Post Types के अलावा हम हमारे स्वयं के Custom Post Type भी Create कर सकते हैं। सामान्‍यत: हम Custom Post Type तब Create करते हैं, जब हम wp_posts Table को ही अलग तरह का Data Store करने के लिए Use करना चाहते हैं।

post_mime_type

इस Field में Current Post/Page का MIME Type होता है, जो Post के Type (PDF, HTML, TEXT, Image, etc…)  को Specify करता है।

comment_count

इस Field  का Numerical मान इस बात को Specify करता है कि Current Post/Page पर Users द्वारा कितने Comments किए गए हैं

wp_postmeta

WordPress में जो भी Page, Post, Media Record व Revisions Create करते हैं, उन सभी से सम्बंधित Metadata जैसे Custom Fields आदि इस Table में Store होते हैं। इस Table Structure के विभिन्न Fields निम्नानुसार होते हैं:

meta_id

इस Field में Current Post-Meta का Unique ID होता है। Post-Meta वास्तव में किसी Post के साथ Specified Extra Data होता है, जो Post को Extra Content Provide करता है।

post_id

इस Field में उस Post का ID होता है, जिसके साथ Metadata को Attach किया गया होता है।

meta_key

इस Field में वह Meta Key होती है, जिसके आधार पर किसी Unique Data को किसी Particular Post के लिए Identify करते हैं।

meta_value

इस Field में वह Meta Value होती है, जिसे meta_key के साथ Assign किया गया होता हैं।

इस Table के Data का प्रयोग मूल रूप से या तो WordPress Core द्वारा Internally किया जाता है या फिर जब हम हमारा स्वयं का Theme या Plugin Design करते हैं, तो Specific तरीके से Post Meta के आधार पर Web Page Generate करने के लिए हम इन Metadata का प्रयोग करते हैं।

इस Table के Data का प्रयोग किसी Post के लिए Custom Fields Create करने के लिए, यदि किसी Page के साथ किसी Template को Assign किया गया हो, तो उस Page Template की Value के लिए, किसी Specific Type की Requirement को पूरा करने हेतु Create किए जाने वाली Value को किसी Key के साथ Attach करने तथा Plugin या Theme द्वारा अपने किसी Data को इस Table में Store करने के लिए किया जाता है, जो कि Key-Value Pair में होते हैं।

wp_terms

WordPress में हम किसी Post के साथ जिस Category या Tag को Use करना चाहते हैं, उसे Terms के रूप में Define करना जरूरी होता है और Define किए जाने वाले सभी Terms इसी Table में Store होते हैं। इस Table Structure के विभिन्न Fields निम्नानुसार होते हैं:

term_id

इस Field में Current Term का Unique ID होता है।

name

इस Field में Current Term का Name होता है।

slug

इस Field में Current Term का Slut होता है, जिसे URL में Use किया जा सकता है।

term_group

 

wp_terms_taxonomy

wp_terms Table में Category या Tag के रूप में जो भी Term Store किया जाता है, उस Term के साथ जो भी Taxonomy Assigned होता है, वह Taxonomy इस Table में Store होता है। इस Table Structure के विभिन्न Fields निम्नानुसार होते हैं:

term_taxonomy_id

इस Field में Current Term व Taxonomy के Combination का Unique ID होता है।

term_id

इस Field में Current Term का Unique ID होता है।

taxonomy

यदि चीजों को किसी Particular Feature के आधार पर अलग-अलग Group में Divide किया जाए और फिर उस हर Group को एक नाम दे दिया जाए, तो इस नाम को हम Taxonomy कह सकते हैं।

उदाहरण के लिए यदि बहुत सारे Posts, C Language नाम की Category के हों, तो “C Language” एक Taxonomy है और URL में इसे http://domain/category/name’ Format में Use किया जाता है।

इसी तरह से यदि बहुत सारे Posts, C Language नाम के Tag से Associated हों, तो “C Language” एक Taxonomy है और URL में इसे http://domain/tag/name’ Format में Use किया जाता है।

description

जब हम Taxonomy (Tag/Category) Create करते हैं, तब हम उस Taxonomy का कोई Description Specify कर सकते हैं। वह Description इस File में Store होता है।

parent

जब हम Category Taxonomy Create करते हैं, तब हम एक Category में दूसरे Category की Nesting कर सकते हैं। इस स्थिति में यदि Current Category, एक Child Category हो तो उसके Parent Category का ID इस Field में Specify किया जाता है।

count

इस Field में कुल Created Taxonomies की सं[या Stored रहती है।

wp_terms_relationships

इस Table में विभिन्न Taxonomy Terms अपने Content (Posts, Links आदि) के साथ Relationship को Represent करते हुए Store होते हैं। यानी WordPress में Posts के साथ CategoryTag को Assign किया जाता है, जिन्हें wp_terms Table में Store किया गया होता है और इस Association को wp_terms_relationships नाम की Current Table में Maintain किया जाता है। इस Table Structure के विभिन्न Fields निम्नानुसार होते हैं:

object_id

इस Field में Current Object का Unique ID होता है।

term_taxonomy_id

इस Field में Current Term व Taxonomy के Combination का Unique ID होता है।

term_order

 

wp_users

इस Table में Current Web Site पर Registered सभी Users की विभिन्न Information (Login, Email, Password, etc…) Store होते हैं। इस Table में निम्नानुसार Fields होते हैं:

ID

इस Field में Current User का Unique ID होता है।

user_login

इस Field में Current User का Unique Username होता है।

user_pass

इस Field में Current User का Encrypted Password होता है।

user_nicename

इस Field में वही नाम होता है, जो user_login Field में होता है। लेकिन यदि हम चाहें तो WordPress Profile में Login करके इस Field का नाम Change कर सकते हैं, जो कि वह नाम होता है जिसे Current User Display Name की तरह Show करना चाहता है।

user_email

इस Field में Current User का Email Address होता है।

user_url

इस Field में Current User अपनी Website अथवा Blog या किसी अन्‍य Profile का URL Specify कर सकता है।

user_registered

इस Field में User के Current Website/Blog पर Registration करने का Date and Time Store होता है।

user_activation_key

इस Field में एक Random Key होता है, जो एक Confirmation URL के बीच Attach करके WordPress द्वारा उस User के Email पर भेजा जाता है, जो WordPress Site/Blog पर Register करने के बाद अपना Login Password भूल जाता है और नया Password प्राप्त करने के लिए Forgot Password Webpage का प्रयोग करता है।

जब User अपने Email में उस Confirmation URL को Click करता है, तो User के Email से आने वाली Key को इस Field में Stored Key के साथ Match किया जाता है।

यदि दोनों Keys Match हो जाती हैं, तो ये इस बात का Signal होता है कि User ने Valid Email Address Specify किया है और WordPress उस User को Specified Username के लिए नया Password Allot कर देता है। Current WordPress Website/Blog के Confirmed Subscriber की तरह Register कर देता है।

साथ ही इसी Key का प्रयोग Password Reset के समय भी उसी तरह से किया जाता है, जिस तरह से Email Confirmation के लिए किया जाता है।

user_status

इस Field का कोई उपयोग नहीं होता और Default रूप से इसमें 0 मान Stored होता है।

display_name

इस Field में Current User का वह नाम होता है, जिसे वह Display करना चाहता है।

wp_usermeta

इस Table में Current Web Site पर Registered सभी Users की Metadata Information (First Name, Last Name, Nick Name, User Level, etc…) Store होते हैं। इस Table के विभिन्न Fields निम्नानुसार होते हैं:

umeta_id

इस Field में Current User-Meta का Unique ID होता है। User-Meta वास्तव में किसी User के साथ Specified Extra Data होता है, जो User को Extra Content Provide करता है।

user_id

इस Field में उस User का ID होता है, जिसके साथ Metadata को Attach किया गया होता है।

meta_key

इस Field में वह Meta Key होती है, जिसके आधार पर किसी Unique Data को किसी Particular User के लिए Define करते हैं।

meta_value

इस Field में वह Meta Value होती है, जिसे meta_key के साथ Assign किया गया होता हैं।

इस Table के Data का प्रयोग मूल रूप से या तो WordPress Core द्वारा Internally किया जाता है या फिर जब हम हमारा स्वयं का Theme या Plugin Design करते हैं, तो Specific तरीके से User Meta के आधार पर Web Page Generate करने के लिए हम इन Metadata का प्रयोग कर सकते हैं।

WordPress Database Schema
WordPress Loading - The Rendering Sequence

WordPress in Hindi - BccFalna.com ये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook Advance WordPress in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी है, तो निश्चित रूप से ये EBook भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी।

Advance WordPress in Hindi | Page: 835 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

Download All Hindi EBooks

सभी हिन्दी EBooks C, C++, Java, C#, ASP.NET, Oracle, Data Structure, VB6, PHP, HTML5, JavaScript, jQuery, WordPress, etc... के DOWNLOAD LINKS प्राप्‍त करें, अपने EMail पर।

Register करके Login करें। इस Popup से छुटकारा पाएें।