WordPress Theme Structure

WordPress in Hindi - BccFalna.com ये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook Advance WordPress in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी है, तो निश्चित रूप से ये EBook भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी।

Advance WordPress in Hindi | Page: 835 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

WordPress Theme Structure – जैसाकि हमने पहले भी Discuss किया है, WordPress Themes हमेंशा wp-content/themes नाम की Directory में एक Sub-Directory के रूप में Stored रहते हैं और इन्हें Directly किसी अन्‍य Location पर Move नहीं करना चाहिए, क्योंकि WordPress Core Files हमारी Currently Activated Theme को इसी Folder में Search करता है।

Currently Activated Theme के Sub-Folder में ही हमारे Theme से सम्बंधित विभिन्न Template Files, Style Sheets, functions.php, Images, Resources, JavaScript Files आदि Stored रहते हैं, जिनकी जरूरत Current Theme को होती है, क्योंकि Current Theme इन्हीं Resources का Collection मा= ही होती है।

WordPress के साथ हमेंशा एक Default Theme Available होता है, जो कि हर New Installation के साथ Install होता है और हम इस Theme के Codes को अपनी जरूरत के अनुसार Reuse कर सकते हैं, क्योंकि ये Theme एक प्रकार से Standard Theme होती है, जिसे हम अपनी Custom Theme के आधार पर के रूप में Use कर सकते हैं। Image व JavaScript Files के अलावा किसी भी WordPress Theme में तीन मुख्‍य Files होती हैं:

  • css नाम की Stylesheet File, जो कि हमारे Theme के Layout व Design यानी हमारे Theme की Visual Representation को Control करता है।
  • WordPress Template Files, जिनके आधार पर WordPress Core इस बात का निर्ण; लेता है कि उसे किस Data को Render करने के लिए किस Template File को Use करना है। किस प्रकार की Requirement को पूरा करने के लिए, किस Template File को Use किया जा सकता है, इस विषय में हम WordPress Rendering Sequence Chapter के अन्तर्गत Detail से जान चुके हैं।
  • php File, जो कि हमारे Theme में WordPress Core Codes को Modify करते हुए Extra Functionalities को Append करने की सुविधा देता है।

style.css File

style.css File एक ऐसी File है, जिसके Header Information का प्रयोग WordPress Theme Related Information को Identify करने के लिए करता है। हम कभी भी एक से ज्यादा Themes में Exactly समान Header Information Specify नहीं कर सकते।

इस विषय में भी हम WordPress Rendering Sequence Chapter के अन्तर्गत Detailed जानकारी प्राप्त कर चुके हैं। फिर भी किसी भी Theme की style.css File में हमें निम्न Header Information को Specify करना जरूरी होता है, क्योंकि इसी Header Information के आधार पर WordPress विभिन्न WordPress Themes को अलग-अलग Uniquely Identify करता है।

/*
Theme Name: Twenty Ten
Theme URI: http://wordpress.org/
Description: The 2010 default theme for WordPress.
Author: wordpress.org
Author URI: http://wordpress.org/
Version: 1.0
Tags: black, blue, white, two-columns, fixed-width, custom-header, custom-background, threaded-comments, sticky-post, translation-ready, microformats, rtl-language-support, editor-style, custom-menu (optional)

License:
License URI:

General comments (optional).
*/

style.css File में Specified इन Header Information के आधार पर ही WordPress Engine विभिन्न Themes को Identify करता है, जिन्हें हम हमारी इच्छानुसार Activate कर सकते हैं।

Functions File

किसी भी WordPress Theme में हम functions.php नाम की एक Optional File Create कर सकते हैं और इस File का प्रयोग WordPress Core Codes को Change करने के लिए WordPress Plugin की तरह कर सकते हैं और यदि हमारी Theme में ये File Exist हो, तो WordPress इस File को WordPress Initialization Process के दौरान Admin व External दोनों प्रकार के Pages के लिए Automatically Load कर देता है। इस थ्पसम के ब्वकमे सामान्‍यत: निम्न प्रकार की जरूरतों को पूरा करने के लिए किया जाता है:

  • इस File का प्रयोग विभिन्न प्रकार के Theme Features जैसे कि Sidebar, Navigation Menus, Post Thumbnails, Post Formats, Custom Headers, Custom Background आदि को Enable करने के लिए किया जा सकता है।
  • जिन Functions की जरूरत हमें हमारी Current Theme की बहुत सारी Template Files में होती है, उन्हें हम php File में Define कर लेते हैं।
  • इस File में हम ऐसे Codes लिखकर एक Options Menu Create कर सकते हैं और इस Options Menu का प्रयोग करके हम Site Owner को Current Theme के Color, Styles, Layouts आदि को Change करने की सुविधा दे सकते हैं।

Default WordPress Theme में भी functions.php नाम की File होती है, जिसमें इन विभिन्न प्रकार के Features को Define किया गया होता है।

चूंकि functions.php File एक प्रकार से WordPress Plugin की तरह काम करता है, इसलिए हम इस File में WordPress में Define किए गए विभिन्न WordPress API Functions को Use करते हुए किसी Specific Type की Requirement को पूरा कर सकते हैं।

Template Files

Template Files वे Files होती हैं, जिनके आधार पर ही WordPress User द्वारा आने वाले Request को पूरा करने के लिए Content को किस तरह से Render करना है, इस बात का निर्ण; लेता हैं।

WordPress Rendering Sequence Chapter के अन्तर्गत WordPress विभिन्न Templates को कब और किस प्रकार की Requirements को पूरा करने के लिए Use करता है, इस विषय में Detailed Discussion कर चुके हैं।

Custom WordPress Theme Development
WordPress Template Tags

******

ये पोस्‍ट Useful लगा हो, तो Like कर दीजिए।

WordPress in Hindi - BccFalna.com ये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook Advance WordPress in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी है, तो निश्चित रूप से ये EBook भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी।

Advance WordPress in Hindi | Page: 835 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

Download All Hindi EBooks

सभी हिन्दी EBooks C, C++, Java, C#, ASP.NET, Oracle, Data Structure, VB6, PHP, HTML5, JavaScript, jQuery, WordPress, etc... के DOWNLOAD LINKS प्राप्‍त करें, अपने EMail पर।

Register करके Login करें। इस Popup से छुटकारा पाएें।