Android App Architecture Extensions

Android App Architecture Extensions – विभिन्न Core Elements के अलावा कुछ और Elements भी होते हैं, जो Android Application के Development व उपयोग में अपना महत्वपूर्ण Role Play करते हैं, जो कि निम्नानुसार हैं:

Storage

हम हमारे Application से सम्बंधित ऐसे Elements जो कि Change नहीं होते जैसे कि Icons, Help Files आदि को अपने Application की Data Files के रूप में Package कर सकते हैं। साथ ही जिस Device पर हमारा Android Application Run होना होता है, उस Device पर Database या Files के लिए कुछ Extra Space भी Reserved कर सकते हैं।

इस Reserved Space पर उस Database या File को Store किया जाता है, जिसमें वे Data होते हैं, जिन्हें User स्वयं हमारे Android Application को Use करते समय उसमें Input करता है अथवा यदि User SD Card के रूप में Extra Storage Use करता है, तो उस Extra Storage में Application से सम्बंधित Data Files को जरूरत के अनुसार Read व Write किया जा सकता है।

Network

Android Devices सामान्‍यत: Internet Ready होते हैं। यानी इन Devices पर Use होने वाले ज्यादातर Applications किसी न किसी तरह से Internet से Connected रहते हुए ही Operate व Update होते हैं। इसलिए हम हमारे Android Application में जरूरत के अनुसार Java Sockets का प्रयोग करते हुए अथवा WebKit-Based Web Browser Widget को Embed करते हुए अपने Application में Internet Feature को Use कर सकते हैं।

Multimedia

Android Devices सामान्‍यत: Multimedia Ready भी होते हैं। यानी ये Devices Audio/Video को Record व Playback करने की क्षमता से युक्त होते हैं। हालांकि Different Devices में इन Multimedia Devices की Capabilities व Qualities में अन्तर हो सकता है, लेकिन हम हमारे Application द्वारा इस बात का पता लगाने के लिए Device की Query कर सकते हैं कि उसमें Audio, Video, Camera आदि से सम्बंधित क्या-क्या Capabilities Exist हैं।

Location Services

Android Devices सामान्‍यत: Location Providers जैसे कि GPSCell Triangulation जैसी Services को Access करने में सक्षम होते हैं, जिसकी वजह से ये Device इस बात को Identify कर सकते हैं कि वे पूरी दुनियां में धरती के किस हिस्से पर हैं और इस बात की जानकारी को हम हमारे Application में उपयोग में ले सकते हैं।

साथ ही हम Location Data का उपयोग अन्‍य तरीकों से करते हुए Location का Map भी Display कर सकते हैं, जिसकी वजह से Devices के Movements को Track करते हुए उस स्थिति में Device की Location का पता लगा सकते हैं, जबकि वह चोरी हो गया हो अथवा खो गया हो।

Phone Services

चूंकि Android Devices मूलत: Phone ही होते हैं, इसलिए हमारा Application इन Devices पर New Phone Calls को Initiate कर सकता है, SMS Messages Send/Receive कर सकता है और वो सबकुछ कर सकता है, जो एक Modern Telephone के साथ किया जा सकता है।

हालांकि पिछले Posts में Specified Android App Architecture व उपरोक्‍तानुसार Specified Android App Architecture Extensions को ठीक से समझ कर हम आसानी से एक Basic Android App Create कर सकते हैं, लेकिन एक High Quality के Android Application को Develop करने के लिए हमें सम्‍पूर्ण Android Architecture को ठीक से समझना बहुत जरूरी है जिसमें बहुत सारे अन्‍य Elements भी होते हैं और हर Element किसी विशिष्‍ट प्रकार की जरूरत को पूरा करता है।

Android in Hindi - BccFalna.comये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook Android in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी है, तो निश्चित रूप से ये EBook भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी।

Android in Hindi | Page: 628 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

Download All EBooks

सभी हिन्दी EBooks के DEMO DOWNLOAD LINKS प्राप्‍त करें, अपने EMail पर।

Register करके Login करें। इस Popup से छुटकारा पाएें।