Working of HTTP Protocol – Evolution of Web Applications

Working of HTTP Protocol - Java आधारित Web Applications Develop करने के बारे में विस्तार से जानने से पहले इस बात को समझना कि तकनीकी रूप से Web किस तरह से काम करता है, एक Web Developer के रूप में हमारे लिए काफी जरूरी व महत्वपूर्ण होता है क्‍योंकि जब तक हम Web की Working यानी कार्यप्रणाली को ठीक से नहीं समझते, तब तक हम उपयोगी व Robust Web Applications Develop नहीं कर सकते। इसलिए इस Chapter में हम Web व उससे सम्बंधित विभिन्न Technologies की … [Read more...]

Search Engines – How and Why Developed?

Search Engines को Web Search Engines भी कहा जाता है क्‍योंकि सामान्यत: ये ऐसे Online Software होते हैं, जो World Wide Web पर किसी Information को Search करने का काम करते हैं। ये Search Engines विभिन्न प्रकार के Word Combinations जिन्हें Keywords कहते हैं, के आधार पर Web पर उपलब्ध विभिन्न प्रकार की Information से सम्बंधित Web Pages का एक Index Create करके अपने Database में Store कर लेते हैं और जब हम उस Particular Information से सम्बंधित Webpage को … [Read more...]

Basic Internet Tools

Basic Internet Tools - पिछले Discussion के अनुसार हम जानते हैं कि Internet वास्तव में Networks का Network है, जिस पर विभिन्न प्रकार की सुविधाऐं देने के लिए विभिन्न प्रकार की Services Run होती हैं और Internet के माध्‍यम से हम जिन-जिन Services को उपयोग में लेते हैं, उन सभी Services को Internet Tools कहा जाता है क्‍योंकि ये ही वे माध्‍यम हैं, जिन्हें Use करने के लिए हम Internet जैसी Networking व्‍यवस्था को उपयोग में लेते हैं। Internet द्वारा उपयोग … [Read more...]

Web Browser War

Web Browser War - हालांकि 1991 में Internet को Public Access के लिए पूरी तरह से Free कर दिया गया था, लेकिन Internet को Use करने के लिए Tim ने जिस World Wide Web Project को Develop किया था, वह अभी तक भी Publicly उपलब्‍ध नहीं था। इसलिए केवल Tim व CERN के वैज्ञानिक ही Web से सम्बंधित Research व Development किया करते थे और लोगों को केवल वो ही Information व Documents Access करने के लिए मिलते थे, जिन्हें CERN द्वारा Web के रूप में Publish किया जाता … [Read more...]

Resource – URI and URL

Resources की विशेषता ये होती है कि प्रत्येक Resource का एक Unique URI (Uniform Resource Identifier) होता है, जो कि किसी Specific URL (Uniform Resource Locator) के माध्‍यम से Access होता है। उदाहरण के लिए जब हम अपने Web Browser के Addressbar में https://www.bccfalna.com/index.php लिखते हैं, तो इस Statement को URL कहा जाता है और ये URL उस Computer System के Web Server से index.php नाम के Resource को Access करके Current Web Browser में Load कर देता … [Read more...]


error: Content is protected !!

Download All EBooks

सभी हिन्दी EBooks के DEMO DOWNLOAD LINKS प्राप्‍त करें, अपने EMail पर।

Register करके Login करें। इस Popup से छुटकारा पाएें।