cPanel Domain Management

cPanel Domain Management, cPanel द्वारा Provide की जाने वाली एक बहुत ही उपयोगी सुविधा है, जिसके द्वारा Provide किए जाने वाले विभिन्न Options को Use करके हम Domain Related Special Tasks Perform कर सकते हैं।

इसके अन्तर्गत सबसे पहले Option के रूप में हमें Subdomains नाम का Option प्राप्त होता है, जिसका प्रयोग करके हम एक ही Web Hosting Plan पर एक से ज्‍यादा प्रकार की Websites को ठीक उसी तरह से Host कर सकते हैं, जिस प्रकार से Blogger.com अपने एक Single Host पर ही हमें एक Sub-Domain Provide करता है और एक अलग Website के रूप में Personal Blog Create करने की सुविधा देता है।

जब हम cPanel के Domain Management Section में दिखाई देने वाले Subdomains Option को Click करते हैं, तो हमारे सामने निम्नानुसार एक नया Webpage Display होता है:

cPanel Domain Management - Hindi

जब हम उपरोक्तानुसार “wordpress” नाम का एक Subdomain Specify करके “Create” Button पर Click करते हैं, तो हमारी Website के public_html Folder में ही wordpress नाम का एक नया Folder Create हो जाता है। जबकि यदि हम चाहें तो Create होने वाले Folder का नाम Change भी कर सकते हैं। हमारे द्वारा Create होने वाले Subdomain की Information भी हमें इसी Webpage पर निम्नानुसार प्राप्त होती है:

cPanel Domain Management - Hindi

जहां हम हमारे Newly Created Sub-Domain को किसी अन्‍य Domain पर Forward यानी Redirect भी कर सकते हैं अथवा Remove Link का प्रयोग करते हुए किसी Specific Subdomain को Delete भी कर सकते हैं।

लेकिन यदि हम इस Newly Create होने वाले Domain को Redirect नहीं करते, तो उस स्थिति में ये Subdomain हमारे Current Hosting Plan के public_html के wordpress नाम के Folder को ही Represent करता है। परिणामस्वरूप इस Folder में जो भी Resources होते हैं, उन्हें Web Browser के Addressbar में http://wordpress.bccfalna.com URL Specify करते हुए Access किया जा सकता है।

जबकि यदि हम इस Newly Created Domain को किसी अन्‍य URL पर Redirect करने के लिए इसी Webpage पर दिखाई देने वाले “Manage Redirection” Hyperlink को Click करते हैं, तो हम निम्नानुसार एक नए Webpage पर पहुंच जाते हैं:

cPanel Domain Management - Hindi

जहां यदि हम चाहें तो Redirection को Disable करने के लिए “Disable Redirection” Button पर Click कर सकते हैं। जबकि यदि हम हमारे wordpress.bccfala.com Subdomain को किसी अन्‍य URL पर Redirect करना चाहते हैं, तो उस Target URL को हमें उपरोक्त चित्रानुसार Textbox में Specify करना होता है।

परिणामस्वरूप जब हम उपरोक्तानुसार Redirect Domain Specify करके “Save” Button पर Click करते हैं, तो फिर Web Browser के Addressbar में wordpress.bccfala.com Subdomain को Specify करने पर हमारा Web Browser हमें http://bccfalna.blogspot.com पर पहुंचा देता है यानी Redirect कर देता है।

जब हम “Manage Redirection” Hyperlink को Click करके Redirection Set करते हैं, तो उस स्थिति में हमारा Subdomain हमें कुछ निम्नानुसार दिखाई देता है:

cPanel Domain Management - Hindi

Subdomains की तरह ही cPanel का Domain Management Section हमें “Addon Domains” नाम का एक और Option Provide करता है। ये Option Exactly Subdomains की तरह ही काम करता है, लेकिन इसका फायदा ये होता है कि हम समान Hosting Plan के साथ एक से ज्‍यादा Websites को Host कर सकते हैं, जबकि Host होने वाली हर Website के साथ एक अलग Top Level Domain Name को Associate किया जा सकता है।

इस प्रकार से मुख्‍य Domain ही Primary Domain की तरह Hosting Plan के साथ Associated रहता है, जबकि अन्‍य सभी Addon Domains इस Primary Domain के Under Secondary Domain की तरह Associated होते हैं, जिन्हे Subdomain की तरह Access किया जा सकता है।

यानी उदाहरण के लिए यदि हम bccfalna.net को एक Addon Domain की तरह अपने Current Hosting Plan के साथ ही एक और Website को Host करने के लिए Use करना चाहें, तो इस Domain को हम एक Addon Domain की तरह हमारे Current Hosting Plan के साथ Associate कर सकते हैं और ऐसा करने के लिए हमें “Addon Domains” Option को Click करना होता है, जिसके Response में हमें निम्नानुसार अगला Webpage दिखाई देता है:

cPanel Domain Management - Hindi

इस प्रकार से उपरोक्त चित्रानुसार विभिन्न Information को Specify करने के बाद जब हम “Add Domain” Button पर Click करते हैं, तो उस स्थिति में भी हमारे Current Hosting Plan में ही फिर से public_html Folder में हमारे Domain Name के समान ही bccfalna.net नाम का ठीक उसी तरह से एक और Folder Create होता है, जिस तरह से Subdomain Create करते समय Create हुआ था और उस Newly Create होने वाले Folder के साथ हमारा bccfalna.net Domain Name Associate हो जाता है।

लेकिन इस Newly Created Folder को हम एक Separate Domain Name द्वारा ठीक उस तरह से Access कर सकते हैं जैसे कि हम एक Separate Website को Visit कर रहे हों, जबकि ये Website bccfalna.com के Hosting Plan की ही एक Sub-Website है, जिसे bccfalna.net.bccfalna.com की तरह भी Access किया जा सकता है क्योंकि bccfalna.com एक प्रकार से bccfalna.com के Sub-Domain के रूप में ही Associated है, अन्तर केवल इतना है कि इस Folder को हम एक Separate Domain Name के साथ Access कर सकते हैं।

यहां एक बात और ध्‍यान रखने वाली है कि हम जिस Addon Domain Name को उपरोक्तानुसार Setup कर रहे होते हैं, उसका पहले से ही Registered व Propagated होना जरूरी होता है। साथ ही हम अलग-अलग Hosting Providers हमें Addon Domain Associate करने की सुविधा देते हैं या नहीं, इस बात को ध्‍यान में रखे हुए ही हम किसी Addon Domain को अपने Hosting Plan के साथ Associate कर सकते हैं।

उदाहरण के लिए हमारा Hosting Provider हमें Unlimited संख्‍या में Addon Domains Add करने की सुविधा देता है, जिसका मतलब ये है कि हम चाहें तो कई अन्‍य Separate Websites को अपने Basic Hosting Plan पर समान रूप से Host कर सकते हैं और bccfalna.net एक Addon Domain की तरह ही bccfalna.com के साथ Associated है।

जबकि सस्ते Hosting Providers Addon Domains की सुविधा अपने Basic Plan में नहीं देते, जिसकी वजह से एक से ज्‍यादा Domains को Host करने के लिए हमें महंगे Hosting Plan पर Upgrade करना जरूरी होता है।

Addon Domains की तरह ही cPanel हमें Domain Management Section के अन्तर्गत “Parked Domains” नाम का एक और Option Provide करता है। जिसका प्रयोग करके हम हमारे अन्‍य Domains को भी Main Domain को Point करने के लिए Use कर सकते हैं।

उदाहरण के लिए जब हम समान Hosting Plan के साथ Multiple Separate Websites Create करना चाहते हैं, तब हम “Addon Domains” Feature को उपरोक्तानुसार Use करते हैं। लेकिन जब हम हमारे अन्‍य Domains के लिए अलग से Separate Websites Create करना नहीं चाहते, बल्कि हम चाहते हैं कि User किसी भी अन्‍य Domains को Use करके भी हमारे Main Domain वाली Website को ही देखे] तो उस स्थिति में हम हमारे अन्‍य Domains को Parked Domains Option का प्रयोग करते हुए Park कर सकते हैं।

Parked Domains वास्तव में Multiple Domain Names द्वारा Same Website को Refer करने का एक तरीका है।

उदाहरण के लिए आप google.com के स्थान पर google.net या google.biz Domain Name को भी यदि Web Browser के Addressbar में Specify करते हैं, तब भी आप वास्तव में google.com पर ही Redirect हो जाते हैं। ऐसा इसीलिए होता है, क्योंकि ये सभी Domain Names Google Inc. के Parked Domains हैं।

Domain Parking का मूल उद्देश्‍य केवल इतना ही होता है कि हम हमारे किसी भी Domain Extension को अपने लिए ही Reserved रखना चाहते हैं। यानी हम नहीं चाहते कि हमारे Domain Name से सम्बंधित किसी भी Extension को कोई भी दूसरा User किसी अन्‍य Purpose के लिए Use करते हुए हमारे Brand को किसी भी तरह का नुकसान पहुंचा, अथवा हमारे Brand का Indirect फायदा उठाए।

इसलिए हम हमारे Brand से सम्बंधित सभी Domain Names को Purchase करके अपनी मुख्‍य Website के लिए Park कर देते हैं, ताकि सभी Domains हमारी मुख्‍य Website को ही Point करे और मुख्‍य Website पर ही Redirect हो।

Addon DomainParked Domain में एक अन्तर ये भी है कि Addon Domains को Search Engines एक Separate Website की तरह Treat करते हुए उसके सभी Webpages को Separate रूप से Index करते हैं। लेकिन Parked Domains को Search Engines अपने Index में कोई जगह नहीं देते यानी उनकी Indexing नहीं करते।

Domain Parking करने के लिए जब हम अपने cPanel के Domain Management Section के “Parked Domains” Option को Click करते हैं, तो हमारे सामने निम्नानुसार Webpage Display होता है:

cPanel Domain Management - Hindi

परिणामस्वरूप जैसे ही हम उपरोक्तानुसार bccfalna.net को Parked Domain की तरह Specify करके “Add Domain” Button पर Click करते हैं, ये Domain Name भी हमारी मुख्‍य Website bccfalna.com को ही Refer करने लगता है।

यहां भी ये बात पूरी तरह से Apply होती है कि Domain Parking से पहले उस Domain का हमारे लिए Registered होना तथा Propagated होना जरूरी होता है। यानी हम उसी Domain को Park कर सकते हैं, जिसे हमने खरीदा हो। साथ ही ये भी जरूरी होता है कि हमारा Current Hosting Plan हमें Domain Parking की सुविधा Provide करता हो।

cPanel के Domain Management Panel के अन्तर्गत Redirects एक और महत्वपूर्ण व उपयोगी Option है, जिसका प्रयोग करके हम हमारी Website के किसी Page या Group of Pages को किसी अन्‍य URL पर Redirect कर सकते हैं। इस Option को Click करने पर हमारे सामने निम्नानुसार Webpage Display होता है:

इस Webpage पर हमें कई Options प्राप्त होते हैं, जिनका प्रयोग करके हम हमारे किसी URL को किसी अन्‍य URL पर Redirect कर सकते हैं।

उदाहरण के लिए सबसे पहले Option के रूप में हम Permanent (301)Temporary (302) के रूप में दो प्रकार के Redirects कर सकते हैं।

जब हमें हमारे किसी URL को Permanently किसी अन्‍य URL पर Redirect करना होता है, तब हम Permanent (301) Redirect का चुनाव करते हैं।

उदाहरण के लिए मानलो कि जो File URL https://www.bccfalna.com/tutorials/ पर Exist था, उसे हमेंशा के लिए https://www.bccfalna.com/samples/ ULR पर Move कर दिया गया है, तो इस स्थिति में किया जाने वाला Redirection Permanent (301) होना चाहिए, जो विभिन्न Search Engines के लिए इस बात का Instruction होता है कि वह पिछले सभी Indexed Webpages को नए Permanent URL से Modify कर ले और जब भी कभी किसी User को https://www.bccfalna.com/tutorials/ पर Redirect करना हो, तो वह उसे https://www.bccfalna.com/samples/ URL पर Redirect कर दे।

जब एक बार सभी Redirected URLs को Search Engines अपने Indexing Database में नई Location के Permanent URL से Modify कर लेते हैं, उसके बाद इन Redirections को Delete कर देने के बाद भी हमारे Search Engine Traffic पर कोई प्रभाव नहीं पडता।

जबकि Temporary (302) Redirect तब किया जाता है, जब हम किसी विशेष Situation में थोडे समय के लिए ही किसी Resource की Location को Change करते हैं और उस Resource को फिर से किसी विशेष समयाविध के बाद उसी पुराने Location पर Move कर दिया जाने वाला होता है। इस प्रकार के Redirection में Search Engines अपने Indexing Database को नए Location के URL Information से Modify नहीं करते।यं

चूंकि हमारा Domain मूल रूप से कुल दो तरीकों से Use किया जा सकता है, जहां पहले तरीके में www Alias को Use नहीं किया जाता जबकि दूसरे तरीके में इसे Use किया जाता है। जैसेरू:

https://bccfalna.com/          and      https://www.bccfalna.com/

इस स्थिति में Redirection के लिए हमें इस Webpage पर कुल तीन तरीके प्राप्त होते हैं:

Only redirect with www.

जब हम इस Option को Selected रखते हैं, तो होने वाला Redirection केवल www. से शुरू होने वाले Source Domain के Web Browser के Addressbar में Specified होने पर ही होता है। यदि User ने Web Browser के Addressbar में Source Domain के साथ www. Specify न किया हो, तो Redirection नहीं होता।

cPanel Domain Management - Hindi

Redirect with or without www.

जब हम इस Option को Selected रखते हैं, तो होने वाला Redirection जरूर होता है, भले ही User ने Web Browser के Addressbar में Domain Name के साथ www. Specify किया हो चाहे न किया हो।

cPanel Domain Management - Hindi

Do Not Redirect www.

जब हम इस Option को Selected रखते हैं, तो होने वाला Redirection केवल तभी होता है, जबकि Web Browser के Addressbar में Specified URL में User ने www. का प्रयोग न किया हो।

cPanel Domain Management - Hindi

इन सभी Options के अलावा हमें “Wild Card Redirection” के रूप में एक Checkbox भी प्राप्त होता है। इस Checkbox को Select करने पर Redirect होने वाली Directory की सभी Files उसी नाम से नए Directory द्वारा Refer होंगी।

उदाहरण के लिए यदि हम https://www.bccfalna.com/tutorials/ पर Exist सभी Files को समान नाम से https://www.bccfalna.com/samples/ URL पर Redirect करना चाहें, तो उस स्थिति में हम निम्नानुसार तरीके से इस Checkbox को Selected रख सकते हैं:

cPanel Domain Management - Hindi

जब हम उपरोक्त चित्रानुसार SourceDestination URLs को Specify करके “Add” Button पर Click करते हैं, तो हमें निम्नानुसार अगला Message प्राप्त होता है:

cPanel Domain Management - Hindi

जो इस बात को Indicate करता है कि यदि https://www.bccfalna.com/tutorias/c/ नाम का कोई URL पहले Exist था, तो वह अब परयंhttps://www.bccfalna.com/samples/c/ पर Redirect हो जाएगा। इसी तरह से यदि https://www.bccfalna.com/tutorias/java/ नाम का कोई URL पहले Exist था, तो वह अब परयंhttps://www.bccfalna.com/samples/java/ पर Redirect हो जाएगा।

लेकिन जब हम Particular किसी एक URL को ही Redirect करना चाहते हैं, तब हमें “Wild Card Redirect” Checkbox को Unchecked रखना होता है। इस स्थिति में केवल Source URL से Destination URL पर Redirection होता है।

cPanel Security Management
cPanel Database Management

WordPress in Hindi - BccFalna.comये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook WordPress in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

WordPress in Hindi | Page: 420 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

Special Discount Offer

खरीदिए एक से ज्‍यादा EBooks, और पाईए ₹100 से ₹1200 तक का Extra Cash Discount

Discount Coupon Codes