Design Philosophy of ASP.NET Web Forms

Design Philosophy of ASP.NET Web Forms  – Web Forms  वास्तव में  HTML व HTTP जैसी दो अलग Technologies को Abstract करते हुए Web Applications Develop करने के लिए एक Environment Provide करने की कोशिश करता है। क्योंकि जिस समय Web Technology से सम्बंधित  HTML व HTTP Technologies का विकास हो रहा था, उस समय लोग केवल Desktop Technologies के बारे में ही बेहतर तरीके से समझते थे, क्योंकि Web Technology उनके लिए नएदम नई व अलग तरह की Technology थी।

HTTP के साथ सबसे बडी समस्या ये थी कि ये एक Stateless Protocol को Represent करता था, जिसकी वजह से एक बार Web Browser, Request Perform करता था और Web Server द्वारा उस Request के लिए Response Return कर दिया जाता था, उसके बाद अगले Request/Response Cycle में Client व Server दोनों एक दूसरे से पूरी तरह से अपरिचित हो जाते थे।

परिणामस्वरूप एक ऐसे तरीके की जरूरत थी, जिससे Web Server इस बात का ध्‍यान रख सके कि उस पर Request Perform करने वाले Web Browser ने पहले भी कोई Request Perform किया है या Current Request उस Web Browser द्वारा Perform की जाने वाली First Request है।

इस तरीके के माध्‍यम से ही Client व Server एक दूसरे को HTTP के Stateless होने के बावजूद Identify करने व एक से ज्यादा Request/Response Cycle के दौरान आपस में Data Share करने की क्षमता प्राप्त कर सकते थे। जिसके फलस्वरूप  Desktop Application के Model के अनुसार ही Web Application Develop करने की क्षमता को विकसित किया जा सकता था।

ASP.NET में State Manage करने के लिए Develop किए गए इस एक प्रकार के Feature को View State Feature के नाम से जाना जाता है और इस Feature के अन्तर्गत किसी ASP Page की Current State को एक Hidden HTML Elements के value Attribute के माध्‍यम से फिर से Web Server पर Send कर दिया जाता है।

लेकिन यहां समस्या ये होती है कि  HTML Markup व Visual Studio IDE के Drag-and-Drop Development Model, दोनों एक दूसरे के साथ पूरी तरह से Compatible नहीं होते हैं। इसलिए इस समस्या के समाधान के रूप में Microsoft ने कुछ एक Design Tools को Develop किया, जिसके बारे में हम आगे जानेंगे।

हालांकि वर्तमान समय में हम HTTP व  HTML से काफी परिचित हैं, लेकिन Web Applications के शुरूआती दौर में Microsoft द्वारा Develop किया गया Visual Web Application Development का तरीका ही उस समय के लिए सबसे उपयुक्त Web Development Model था, जहां Visual Basic Programming Language का प्रयोग करते हुए Desktop Application Develop करने वाले Programmers को Web Application जैसे एक प्रकार के Application Develop करने के लिए किसी नई Technology को बिल्कुल शुरूआत से सीखने व समझने की जरूरत नहीं थी।

सरल शब्दों में कहें तो Web Forms  आधारित Web Application Design Philosophy को विकसित करने का मूल उद्देश्‍य केवल इतना ही था कि जहां तक सम्भव हो सके, वहां तक Web Applications को भी ठीक उसी तरह से Develop किया जा सके, जिस तरह से Desktop Applications को Develop किया जाता था। ताकि Microsoft Technology को Use करते हुए Desktop Applications Develop करने वाले Developers आसानी से एक प्रकार के Devices व Technologies के लिए Generate होने वाली नई प्रकार की Requirements को पूरा करने के लिए एक प्रकार के Web Applications Develop कर सकें।

ASP.NET – Web Forms Fundamental Concepts
The Web Forms Architecture

Core ASP.NET WebForms in Hindi - BccFalna.com: TechTalks in Hindiये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook Core ASP.NET WebForms with C# in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

Core ASP.NET WebForms in Hindi | Page:647 | Format: PDF

BUY NOW GET DEMO REVIEWS