Environment Setup for Easy and Fast Development

Setup Web Development Environment: HTML (Hypertext Markup Language) Internet या World Wide Web पर सबसे ज्‍यादा उपयोग में ली जाने वाली भाषा है। Internet पर दिखाई देने वाला हर Web Page मूल रूप से HTML में ही बना हुआ है। जैसाकि इसके नाम से ही हमें पता चलता है कि ये एक Markup Language है, जो कि किसी Document के Contents की Marking करने का काम करता है। इस Language को सीखना उतना ही सरल है, जितना किसी Paper Document मे किसी जरूरी जानकारी को Underline, Bold या Italic करके Mark करना।

जिस तरह से हम हमारे सामान्‍य Paper Document में किसी जानकारी को Bold अथवा Italic Mark करके Special Attention देते हैं, उसी तरह से HTML के विभिन्‍न TagsElements भी Web Page में किसी जानकारी को Special Attention देने के लिए उसे विभिन्‍न प्रकार से Mark करने का काम करते हैं, इसीलिए इस Language को Markup Language कहा जाता है।

जबकि विभिन्‍न HTML Documents को Hypertext इसलिये कहा जाता है, क्‍योंकि सभी HTML Documents एक तो Electronic Document के रूप में होते हैं, दूसरा आपस में एक दूसरे से Linked होते हैं। यानी जब कोई Content Electronic Form में हो और अन्‍य Electronic Document के Content से Electronically Linked हो, तो Document  के ऐसे Contents या Texts को Hypertext कहा जाता है और इस प्रकार के Hypertext के Contents को Mark करने वाली Language को Hypertext Markup Language कहा जाता है।

जब हम किसी Document के किसी हिस्‍से को Web Browser में Highlight करना चाहते हैं, तब हम हमारी इस जरूरत को विभिन्‍न प्रकार के HTML Tags का प्रयोग करके पूरा करते हैं।

दूसरे शब्‍दों में कहें तो जब हम Web Browser में किसी Information को Highlight करने के लिए किसी HTML Tag का प्रयोग कर रहे होते हैं, तब वास्‍तव में हम उस Web Page को Structure कर रहे होते हैं क्‍योंकि ये HTML Tags, Web Browser को ये बताते हैं कि Document का कौनसा Text Heading की तरह दिखाई देगा, कौनसा Text Paragraph की तरह दिखाई देगा और Paragraph का कौनसा हिस्‍सा Web Browser में सारणी की तरह Render होगा। इस तरह से ये HTML Tags ही ये तय करते हैं कि Web Browser में किसी Document के Texts यानी Contents किस तरह से Display होंगे।

जब हम MS-Word जैसे किसी Word Processor में कोई Document Create करते हैं, तब हम स्‍वयं विभिन्‍न प्रकार की Heading Styles का प्रयोग करके ये तय कर देते हैं, कि कौनसा Text Heading की तरह दिखाई देगा और कौनसा Text Paragraph की तरह दिखाई देगा। Word Processor में नया Paragraph बनाने के लिए हम Enter Key का प्रयोग कर लेते हैं। इसी तरह से अपने Document में Table Insert करने अथवा Bulleted Lists Create करने के लिए हम विभिन्‍न प्रकार के Menu Commands का प्रयोग करते हैं।

लेकिन यही सारा काम जब हमें हमारे Web Page के लिये करना होता है, तब हमें HTML द्वारा प्रदान किये गए विभिन्‍न HTML या XHTML Tags का प्रयोग करना पडता है।

HTML व XHTML में केवल यही अन्‍तर है, कि HTML के कई Versions Market में आए हैं और हर अगले Version में विभन्‍न प्रकार की जरूरतों को पूरा करने के लिये कुछ नए Tags को Add किया गया है। XHTML, HTML के पिछले Version का ही Modified रूप है और वर्तमान समय में XHTML से आगे की तकनीक आ चुकी है, जिसका नाम HTML5 रखा गया है।

Web Development Environment Setup

हालांकि Web Pages Internet पर Run होते हैं, लेकिन हम अपने हर Web Page को Create करके Internet पर Test नहीं कर सकते हैं। इसलिए जब हम अपनी Web Site Create कर रहे होते हैं, उस समय अपने Web Pages को Create व Test करने के लिए हम हमारे ही Local Computer को Web Server की तरह उपयोग में ले सकते हैं, जिसके लिए हमें कुछ Setup करने पडते हैं।

किसी भी Web Page को Create व Test करने के लिए हमें हमेंशा तीन चीजों एक Web Server, एक Web Browser व एक Text Editor की जरूरत होती है। Text Editor के रूप में हम Notepad++Text Editor को उपयोग में ले सकते हैं। इस Software को http://notepad-plus-plus.org से Download किया जा सकता है। ये Text Editor Freely Available है और इस Text Editor में विभिन्‍न प्रकार के Codes विभिन्‍न प्रकार के Colors में दिखाई देते हैं, जिससे Coding को Debug करना व समझना आसान होता है।

Web Browsers के रूप में हमें हमेंशा एक ज्‍यादा Web Browsers पर अपने Page को Test करना होता है, क्‍योंकिे विभिन्‍न प्रकार के Users अलग-अलग Web Browsers को उपयोग में लेते हैं और हमारा Web Page सभी Web Browsers पर एक समान दिखाई देना जरूरी होता है, इसलिये हम मूल रूप से पांच Web Browsers पर अपने Web Page को Test करेंगे, जो कि सबसे ज्‍यादा उपयोग में लिये जाते हैं। ये सभी Web Browsers Free उपलब्‍ध हैं और इन्‍हें निम्‍न Sites से Download कर लेना चाहिए:

Firefoxhttp://www.mozilla.org/en-US/firefox/new/ Chromehttps://www.google.com/chrome Safari : http://www.apple.com/safari/download/ Opera : http://www.opera.com/

90% से ज्‍यादा लोग Windows Operating System Use करते हैं, जिसमें Internet Explorer पहले से ही उपलब्‍ध रहता है। इसलिये इसे अलग से Download करने की जरूरत नहीं रहती है। फिर भी यदि आप Windows XP Use कर रहे हैं, तो Internet Explorer 8 को अपने कम्‍प्‍यूटर में जरूर Install कर लें, क्‍योंकि Internet Explorer 6 लगभग पूरी तरह से Market से गायब हो चुका है, इसलिये Internet Explorer 6 के लिये अपने Web Page को Test करने की जरूरत नहीं है। जबकि Internet Explorer 7 बहुत ही Buggy है, इसलिये इसके लिये अपने Web Page को Optimize करने की कोशिश करना ही बेकार है।

Text Editor व Web Browsers के बाद तीसरा सबसे जरूरी Software Local Web Server होता है, जिसे अपने Computer में Install करके हम हमारी Web Site को बिल्‍कुल उसी तरह से अपने Local Computer Run कर सकते हैं, जैसी वह Web Site Actual Web Site पर Upload होने के बाद Run होती है।

Local Web Server के रूप में हम IIS अथवा Apache Web Server को उपयोग में ले सकते हैं। IIS Microsoft Company का Web Server है, इसलिये यदि आप ASP.NET Server Side Language का प्रयोग करके Web Site बनाना चाहते हैं, अथवा यदि आप अपनी Site को Windows Web Server पर Host करना चाहते हैं, तो आपके लिये IIS बेहतर Web Server होता है, जबकि Linux Web Hosts के लिये Apache Web Server ज्‍यादा बेहतर होता है।

चूंकि  HTML-XHTMLCSS व JavaScript का संबंध केवल Client Side Web Browser से होता है, इसलिये फिलहाल हम इन दोनों में से किसी भी Web Server को उपयोग में ले सकते हैं। अलग-अलग Web Servers को Setup करना नए Web Developer के लिये थोडा मुश्किल होता है, इसलिये हम यहां पर Apache Web Server को उपयोग में लेंगे, जिसे Install व Run करना काफी आसान होता है।

Apache Web Server के रूप में आप WAMP या XAMPP Package को उपयोग में ले सकते हैं। इन्‍हें Install करना आसान है। WAMP को आप http://www.wampserver.com/en/ से Download कर सकते हैं, जबकि XAMPP को आप http://www.apachefriends.org/en/xampp.html से Download कर सकते हैं। XAMPP Web Server को Install करने व उपयोग में लेने का पूरा Process Setup XAMPP – Local Web Server Page पर दिया गया है, जबकि WAMP Server की Executable File को Run करके बडी ही आसानी से WAMP Server को Local Computer पर Install किया जा सकता है।

XAMPP Web Server में हमें हमारी सभी HTML Files को htdocs नाम के Folder में Save करना होता है जबकि WAMP Web Server में हमारी Files को wamp Folder में स्थि‍त www नाम के Folder में Save करना होता है। इन Folders में Save किये गए Web Pages को हम Web Browser के Address Bar में http://localhost/ Address द्वारा अथवा http://127.0.0.1 Address द्वारा Access करते हैं।

Basic Concepts of Web Development so that the Learning process could be easy.
Create First HTML Page following these steps.

HTML5 with CSS3 in Hindiये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook HTML5 with CSS3 in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। 

HTML5 with CSS3 in Hindi | Page: 481 | Format: PDF

BUY NOW DOWNLOAD READ ONLINE

Download All EBooks

सभी हिन्दी EBooks के DEMO DOWNLOAD LINKS प्राप्‍त करें, अपने EMail पर।

Register करके Login करें। इस Popup से छुटकारा पाएें।