How to Go on Internet? The Basic Requirements.

How to Go on Internet – अभी तक हमने Internet व इसके विभिन्न Aspects के बारे में काफी विस्तार से समझने की कोशिश की जिसके अन्तर्गत हमने ये जाना कि Internet क्या है, इसे किन-किन तरीकों से उपयोग में लिया जाता है, Internet को उपयोग में लेने से सम्बंधित विभिन्न Tools कौन-कौन से हैं, Internet हमें कौन-कौन सी Services Provide करता है और Internet द्वारा Provide की जाने वाली Services के माध्‍यम से हमारा जीवन किस-किस तरह से आसान हो रहा है।

लेकिन अभी तक हमने इस विषय में कोई चर्चा नहीं की कि Internet द्वारा Provide की जाने वाली इन Services को उपयोग में कैसे लें, Internet को उपयोग में लेने के लिए हमें किन-किन चीजों की जरूरत होती है और वे चीजें हमें कौन और कैसे Provide करता है। इसलिए अब हम इसी विषय में उपयुक्त जानकारी प्राप्त करने की कोशिश करेंगे कि Internet से किस प्रकार से व कितने तरीकों से Connect किया जा सकता है।

Basic Requirements

जब एक User के रूप में हम Internet को Use करना चाहते हैं या अन्‍य शब्दों में कहें तो जब हम Internet पर जाना चाहते हैं, तब हमें मूल रूप से कुल तीन चीजों की जरूरत होती है और इन तीनों ही चीजों की जरूरत Compulsory रूप से होती है क्‍योंकि इन तीनों में से किसी एक की भी कमी होने पर हम Internet पर नहीं जा सकते अथवा Internet की सुविधाओं का लाभ नहीं ले सकते। ये तीनों मुख्‍य चीजें अग्रानुसार हैं-

Hardware

Hardware के रूप में हम हर उस Device को उपयोग में ले सकते हैं, जो कि Internet से Connect होने में सक्षम हो। क्‍योंकि जब हम Internet से Connect होते हैं, तो वास्तव में हम किसी Device के माध्‍यम से ही Internet का हिस्सा बनते हुए उसे Use करने की क्षमता प्राप्त करते हैं और हमारा Device तभी Internet से Connect हो सकता है, जबकि उसमें Internet से Connect होने की क्षमता हो या उसमें वे Common Minimum Devices Exist हों, जो कि Internet से Connection स्थापित करने के लिए जरूरी होती हैं।

Internet से Connect होने के लिए हमें हमेंशा किसी Computer को ही Use करना पड़े, ऐसा जरूरी नहीं है। बल्कि वर्तमान समय में Internet का उपयोग Computer की तुलना में Smart Phones व Tablets पर ही सर्वाधिक किया जा रहा है क्‍योंकि Smart Phone व Tablets के अन्दर Modem नाम का वह Hardware पहले से Exist होते हैं, जिसके माध्‍यम से Internet से Connection स्थापित किया जाता है।

साथ ही साथ जब हम अपने Desktop Computer System, Laptop, Notebook आदि के माध्‍यम से Internet से Connect होना चाहते हैं, तब हम WI-Fi या Broadband Modem जैसी Devices के माध्‍यम से अपने Computer System को Internet से Connect करते हैं अथवा यदि हम चाहें तो अपने Smart Phone या Tablet को अपने Computer System से Connect करके भी अपने Computer System पर Internet चला सकते हैं।

यानी मूल रूप से जब हम अपने किसी Device को Internet से Connect करना चाहते हैं, तब ये जरूरी होता है कि उस Device में Internet से Connect होने से सम्बंधित जरूरी Hardware मौजूद हो। इस Hardware को सामान्यत: Modem के नाम से जाना जाता है क्‍योंकि Modem के माध्‍यम से ही हमारा Device (Smart Phone, Tablet or Computer) Internet पर Connection Establish करने की क्षमता प्राप्त करता है।

वर्तमान समय में लगभग सभी Modern Smart Phone व Tablets जैसी Handheld Devices में Modem पहले से Exist होता है, इसलिए ये Devices Internet से Directly Connection स्थापित करने में सक्षम होती हैं। जबकि सामान्यत: Desktop Computers पर Internet चलाने के लिए हमें Modem नाम की External Device को अलग से Setup या Configure करने की जरूरत पडती है। इन External Modem को सामान्यत: Broadband Connection के लिए ही Use किया जाता है, जबकि कुछ समय पहले तक Internal Models को भी Use किया जाता था, जिसके माध्‍यम से Dialup Connection द्वारा Internet से Connect हुआ जाता था।

चूंकि वर्तमान समय में Broadband Connection काफी सस्ते हो चुके हैं जिनकी Speed Dialup Connections की तुलना में बहुत ही ज्यादा Fast होती है और Internet से Connect होने के लिए Broadband के अलावा भी ढेरों अन्‍य सरल Wireless तरीके जैसे कि 2G Mobile Network, 3G Mobile Network, 4G Mobile Network, Wi-Fi Networks आदि उपलब्ध हैं, इसलिए Dialup Connections जैसी Slow Internet Services का अस्तित्व लगभग पूरी तरह से समाप्त हो चुका है और इसीलिए अब किसी भी Modern Desktop Computer में Dialup Connections के माध्‍यम से Internet से Connect करने हेतु Internal Modem Hardware Use नहीं किया जाता।

यानी Dialup Connections के साथ ही Internal Modems का अस्तित्व भी लगभग पूरी तरह से समाप्त हो चुका है और Dialup Connections के Alternative 2G Wireless Internet Connection को भी अब Smart Phone व Tablet जैसी Devices में Slow Internet Connection के रूप में Use किया जाता है, जबकि 3G Connection को तुलनात्मक रूप से Fast Wireless Internet Service के रूप में Use किया जाने लगा है और जल्दी ही 4G Connection भी Market में उपलब्ध हो गया है, जिसकी Speed 3G Network की तुलना में भी काफी ज्यादा तेज है।

अत: Desktop Computers में Internet चलाने के लिए भी अब Dialup Connections की Internet Service को कोई भी Use नहीं करता। बल्कि यदि हम चाहें तो अपने Smart Phone या Tablet में चलने वाले Internet को ही अपने Desktop Computer में भी चला सकते हैं और जब हम ऐसा करते हैं, तब हमारे Smart Phone या Tablet का Modem ही हमारे Desktop Computer के लिए भी Modem की तरह Use होने लगता है।

यानी जरूरी नहीं है कि हम हमारे Desktop Computer में केवल Broadband Modem के माध्‍यम से ही Internet चला सकते हैं। बल्कि वास्तव में Internet से Connect होने के लिए जिस Modem नाम के Hardware की जरूरत होती है, वह Hardware, Smart Phone व Tablets में पहले से ही Exist होता है इसलिए इन Smart Devices को USB Cable या Wi-Fi के माध्‍यम से अपने Desktop Computer से Connect करके हम हमारे Smart Phone या Table के Internal Modem द्वारा अपने Computer System पर भी Internet Connection Establish कर सकते हैं और अपने Computer System पर भी Internet चला सकते हैं।

Software

Hardware की तरह ही Internet द्वारा Provide की जाने वाली सुविधाओं का लाभ प्राप्त करने के लिए हमें उपयुक्त Software की भी जरूरत होती है, क्‍योंकि ये Software ही हमें Internet के माध्‍यम से Email Send या Receive करने, Web Surfing करने, Online Discussion Forums में Participate करने, Online Shopping करने अथवा अन्‍य प्रकार की Internet Related सुविधाओं को Use करने हेतु एक उपयुक्त Interface Provide करते हैं।

Internet द्वारा Provide की जाने वाली विभिन्न सुविधाओं को उपयोग में लेने हेतु Software के रूप में हमें मूल रूप से जिस मुख्‍य Software की जरूरत होती है, वह Web Browser ही होता है क्‍योंकि Web Browser ही Internet पर उपलब्ध विभिन्न प्रकार की Services को Use करने हेतु एक आसान Interface यानी माध्‍यम उपलब्ध करवाता है।

यदि हम हमारे Computer System या Mobile Device को Internet से Connect कर भी लें, लेकिन हमारे Computer System या Mobile Device में Web Browser न हो, तो Internet से Connect होने के बावजूद हम Internet की World Wide Web नाम की सबसे प्रमुख Service को Use नहीं कर सकते।

Web Browser के अलावा कुछ अन्‍य प्रकार के Software भी होते हैं, जो हमें Different प्रकार की Internet सुविधाऐं Provide करते हैं। उदाहरण के लिए Outlook Express नाम का Microsoft द्वारा Provide किया जाने वाला Email Client Software हमें हमारे Computer System पर Emails Send/Receive करने की सुविधा Provide करता है, जो Internet द्वारा Provide की जाने वाली सबसे पुरानी Service है।

इसी तरह से FTP Client के माध्‍यम से हम किसी File को Internet पर Exist किसी अन्‍य Device या Computer System पर Upload करते हुए Transfer करने की सुविधा प्राप्त करते हैं अथवा व Telnet Clients के माध्‍यम से हम किसी दूरस्थ Remote Computer से Connection स्थापित करने व उसे Access व Manipulate करने की सुविधा प्राप्त करते हैं।

यानी Different Type की जरूरत को पूरा करने के लिए हमें Different Type के Software की जरूरत होती है, लेकिन Internet को Access करने के लिए जिस Software की सर्वाधिक जरूरत होती है और जिसे सर्वाधिक लोग Use करते हैं, वह Software Web Browser ही होता है और वर्तमान समय में मूल रूप से कुल 5 Modern Web Browsers को सबसे Use किया जाता है, जिनके विषय में हमने इसी Chapter के पिछले Sections में काफी विस्तार से Discuss किया है।

ISP – Internet Service Provider

Internet Supported Device व Internet Services को Use करने से सम्बंधित Software होने के बावजूद हम तब तक Internet को Use नहीं कर सकते जब तक कि हमारे पास Internet से Connection स्थापित करने से सम्बंधित Permission न हो और ये Permission हमें जो Company Provide करता है, वह हमारा ISP होता है जो कि सामान्यत: कोई Telephone Company ही होता है।

उदाहरण के लिए BSNL (Bharat Sanchar Nigam Limited) वह Company है जो लगभग सारे भारत में Internet Access करने के लिए Broadband Service Provide करता है। इसी तरह से MTNL (Mahanagar Telephone Nigam Limited) महानगरों में Broadband Internet Service Provide करता है। जबकि Airtel, BSNL, Tata, Reliance, Vodafone, Idea, आदि ऐसी Mobile Companies हैं, जो Wireless तरीके से 2G/3G/4G माध्‍यमों से Internet Services Provide करती हैं।

यानी जब आप अपने Computer System या Smart Phone Device पर Internet Access करना चाहते हैं, तो आपको किसी न किसी Tele Communication Provider कम्पनी से इस Service को Access करने की सुविधा प्राप्त करनी होती है। आपके Device पर आप जिस कम्पनी के माध्‍यम से Internet Connection स्थापित करने की सुविधा प्राप्त करते हैं, वही कम्पनी आपका ISP यानी Internet Service Provider कहलाता है।

उदाहरण के लिए मानलो कि आप अपने Mobile Phone पर Internet चलाना चाहते हैं और आपके Mobile Phone में Reliance Jio की SIM है जिसके माध्‍यम से आप अपने Mobile पर Internet Connection Establish करना चाहते हैं। इस स्थिति में आपका Internet Service Provider Reliance Jio होगा। जबकि यदि आपके Mobile Phone में IDEA की SIM हो, तो आपका Internet Service Provider IDEA होगा।

Download All EBooks

सभी हिन्दी EBooks के DEMO DOWNLOAD LINKS प्राप्‍त करें, अपने EMail पर।

Register करके Login करें। इस Popup से छुटकारा पाएें।