ASP.NET Component Programming Benefits

ASP.NET Component Programming Benefits – Component Based Programming को जब Properly Use किया जाता है, तो हमारा Web Application Code अधिक Organized, Consistent व Reusable होता है। साथ ही .NET Application में इसे Implement करना भी काफी आसान होता है, क्‍योंकि हमें किसी भी Special Configuration को Perform करने के लिए Windows Registry को Use करने की जरूरत नहीं होती।

.NET Framework के अन्तर्गत कोई Component एक या अधिक Classes का समूह होता है, जिसे एक .DLL Assembly File के रूप में Compile किया गया होता है। ये Classes आपस में Logically Related Functionalities Provide करते हैं। हम किसी Component को किसी Single Application में Use कर सकते हैं अथवा एक से अधिक Applications में Share कर सकते हैं।

हमारे Components की सबसे बेहतर स्थिति यही होती है कि वे Encapsulated होते हैं, जिसका मतलब ये है कि ये हमें Exactly वही Features Provide करते हैं, जिनकी जरूरत होती है जबकि इन Features को Provide करने के लिए Internally जो Codes Execute हो रहे होते हैं, वे हमारे लिए पूरी तरह से Hidden रहते हैं।

जब हम Component Based Programming को Carefully Use करते हैं, तो उस स्थिति में ये एक बेहतर ASP.NET Application Design करने हेतु काफी उपयोगी साबित होते हैं और इस Chapter में हम इसी विषय को गंभीरता से समझने की कोशिश करेंगे कि किस तरह से हम Visual Studio का प्रयोग करते हुए Component Based Web Application Develop कर सकते हैं व ObjectDataSource Control का प्रयोग करते हुए किस तरह से अपने Web Application में Database Functionality को Well Defined तरीके से उपयोग में लेते हुए Fast Database Application Develop कर सकते हैं।

Why Components

एक Good Quality Professional ASP.NET Developer बनने के लिए हमें .NET Class Library को काफी बेहतर तरीके से Use करने के बारे में जानना जरूरी होता है। इसलिए हालांकि अभी तक हमने .NET Components को Use करते हुए अपनी विभिन्न प्रकार की जरूरतों को पूरा किया है और आगे आने वाले Chapters में भी करेंगे, लेकिन इन सभी Class Libraries के अपने Advantages व अपनी Limitations हैं।

उदाहरण के लिए जब हम SQL Server Database से Data को Retrieve करना चाहते हैं, तो हमें SQL Queries को सीधे ही अपने Application के Webpage के Source Code में Specify करना होता है।

जबकि यदि हम SqlDataSource Control को Use कर रहे होते हैं, तो उस स्थिति में हमें हमारे .aspx Page में दिखाई देने वाले Data को अपनी Code-Behind File द्वारा Control करना पडता है, जहां Separation of Concerns Rule का Violation होता है जो कि किसी भी Application को आसानी से Extend करने के लिए एक सबसे जरूरी Design Pattern है।

यानी SqlDataSource Control का प्रयोग करते हुए जब हम हमारा Application Develop करते हैं, तब अपने Application में Separation of Concerns Rule को Follow करने के लिए अपने Database व Web Application के बीच हमें एक और Layer को Develop करना होता है, ताकि यदि हम Underlying Database में किसी प्रकार का Modification करें, तो हमें हमारे Web Application के Frontend को भी Modify न करना पडे। इसी तरह से यदि Frontend को Modify करें, तो हमें Backend Database में किसी प्रकार का Modification न करना पडे।

Component-Based Programming वास्तव में हमारे Web Application का एक Logical Extension होता है, जो हमें निम्नानुसार बहुत सारे Benefits Provide करता है:

Safety

चूंकि जब हम Components Use करते हैं, तब हमारे Code हमारे Webpage में Contained नहीं होते, जिसकी वजह से हम इन्हें Modify नहीं कर सकते, बल्कि हम केवल उन्हीं Functionalities को Use कर सकते हैं, जिन्हें Component Provider ने हमारे लिए Available करवाया हो।

उदाहरण के लिए हम किसी Database Component को इस तरह से Configure कर सकते हैं कि वह कुछ Specific Database Operations ही Allow करे, ताकि User उन Predefined Operations के अलावा किसी भी अन्‍य Operations को Perform न कर सके।

चूंकि एक Developer के रूप में भी हम किसी Component की Predefined Functionalities के अलावा अन्‍य किसी भी Operations को Perform नहीं कर सकते, इसलिए हमारा Component एक प्रकार से Outer World की छेडछाड से पूरी तरह से Secure रहता है।

Better Organization

जब हम Components Create करते हैं, तब हमारा Webpage तुलनात्मक रूप से काफी सरल हो जाता है क्‍योंकि हमें जो भी Specific Operations Perform करने होते हैं, उनसे सम्बंधित Operations व Features को Component के अन्दर ही Program करना होता है। परिणामस्वरूप हमारे Webpage का Source Code काफी Simple बना रहता है, जिसे Manage व Maintain करना काफी आसान होता है।

Easy Troubleshoot

Component Based Applications में Programs को कई छोटे-छोटे हिस्सों में Divide कर दिया जाता है, जिसकी वजह से जब हमें हमारे Program के किसी Specific हिस्से को Develop व Debug करना होता है, तो उस समय हमें केवल उस हिस्से से सम्बंधित Components को ही Test व Debug करना होता है। जिससे हमारे Web Application का Development व Debugging काफी आसान हो जाता है।

Manageability

Component Based Programs को Develop, Maintain व Extend करना काफी आसान होता है क्‍योंकि Components व Web Applications को Separately Modify व Extend किया जा सकता है और इसी वजह से हमारे Web Application की Development Speed भी काफी तेज हो जाती है क्‍योंकि एक ही Application के विभिन्न हिस्सों को समान समय पर Multiple Developers Develop कर सकते हैं।

Code Reuse

Components को किसी भी प्रकार के उस ASP.NET Application के साथ Reuse कर सकते हैं, जो कि Component Functionality को Support करता हो और क्‍योंकि सभी प्रकार के .NET Applications, Components को Support करते हैं, इसलिए हम किसी भी Component को किसी भी प्रकार के .NET Application में Reuse कर सकते हैं।

FormView Rich Data Control
Three-Tier Design - Component Terminology

Advance ASP.NET WebForms with C# in Hindi - BccFalna.com: TechTalks in Hindiये Article इस वेबसाईट पर Selling हेतु उपलब्‍ध EBook Advance ASP.NET WebForms with C# in Hindi से लिया गया है। इसलिए यदि ये Article आपके लिए उपयोगी रहा, तो निश्चित रूप से ये पुस्तक भी आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी।

Advance ASP.NET WebForms in Hindi | Page:707 | Format: PDF

BUY NOW GET DEMO REVIEWS